माया के बाद अखिलेश ने कहा, झूठ के खिलाफ गठबंधन करने के लिए तैयार


नई दिल्ली(15 अप्रैल): उत्तर-प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी झूठ के खिलाफ राजनीतिक गठबंधन करने के लिए तैयार है। समाजवादी पेंशन को बंद करना ठीक नहीं है।


- पार्टी के कार्यकर्ताओं को जानकारी मिली है कि धर्म के नाम पर झूठ फैलाकर भाजपा ने सरकार बनाई है। लोगों को बांटा गया है। अखिलेश यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग तो हमें हिंदू ही नहीं समझ रहे हैं। अब लगता है कि मुझे सुबह मंदिर जाकर फोटो ट्वीट करना पड़ेगा। हर दिन के लिए अलग रंग के कपड़े पहनकर निकलना पड़ेगा।


- सोमवार को दूसरे रंग के कपड़े, मंगलवार को दूसरे, शनिवार को काले और रविवार को अपनी पसंद के कपड़े पहनने पड़ेंगे। रविवार को टी-शर्ट और निकर पहनकर निकल सकेंगे।


- ईवीएम मशीन के साथ छेड़-छाड़ पर भी अखिलेश ने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि अगले चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए। कई लोगों को भरोसा नहीं हो रहा है कि उन्होंने साइकिल पर बटन दबाई थी, तो उनका वोट कहां चला गया।


- गौरतलब है कि एक दिन पहले शुक्रवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा था कि वह लोकतंत्र को बचाने के लिए गठबंधन करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने भी ईवीएम पर संदेह जाहिर किया था।


- 2014 के लोकसभा व इस वर्ष विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के लिए ईवीएम (इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन) में गड़बड़ी के आरोपों को दोहराते हुए मायावती ने एलान किया कि भाजपा के खिलाफ व लोकतंत्र बचाने के लिए विरोधी दलों से भी हाथ मिलाना पड़ा तो परहेज नहीं किया जाएगा।


- उन्होंने कहा कि पार्टी हित में "जहर को जहर से मारने" का फार्मूला आजमाना जरूरी है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने प्रदेश की 403 में से उन 250 सीटों पर ईवीएम से छेड़छाड़ की, जहां उसे हारने की उम्मीद थी।