... तो 2019 के आम चुनाव से पहले टूट जाएगा अखिलेश-राहुल का गठबंधन ?

नई दिल्ली (10 जनवरी): 2019 के आम चुनाव से पहले कांग्रेस खुद को मजबूत करना चाहती है। कांग्रेस बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ 2019 के आम चुनाव में अपने तमाम गठबंधन के साथ एकजुट होकर टक्कर देना चाहती है। लेकिन इससे पहले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका लग सकता है। 2019 के आम चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में तलाक हो सकता है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के गठबंधन तोड़ने के संकेत दिए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि वो 2019 के आम चुनाव में उत्तर प्रदेश के सभी लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार को उतारेंगे।

अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर अभी वह किसी चुनावी गठबंधन पर विचार नहीं कर रहे हैं। इस समय उनका पूरा ध्यान पार्टी को मजबूत करने पर केंद्रित है। इसके लिए जल्दी ही वह एक रथयात्रा भी निकालेंगे। उन्होंने कहा कि चुनावी गठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर काफी समय जाया करना पड़ता है। 2019 के चुनाव में यूपी से पूरे देश में संदेश जाएगा। इसलिए अभी मैं किसी पार्टी के साथ गठबंधन के बारे में नहीं सोच रहा हूं। साथ ही, सीटों को लेकर भी किसी तरह के भ्रम की स्थिति नहीं पैदा करना चाहता।

उन्होंने कहा कि वह पार्टी के वोट बैंक को मजबूत करने में लगे हुए हैं। वह समान विचार वाली पार्टियों को साथ लेकर चलने में यकीन रखते हैं। प्रत्येक लोकसभा सीट पर काम हो रहा है और हर मजबूत सीट पर प्रत्याशी उतारे जाएंगे। अखिलेश ने कहा कि मध्य प्रदेश, झारखंड व छत्तीसगढ़ में भी संगठन मजबूत है। उत्तराखंड व राजस्थान में भी संगठन काम कर रहा है।