बलात्कारी विधायक के खिलाफ योगी सरकार की नाकामी पर भड़की बीजेपी प्रवक्ता


नई दिल्ली (12 अप्रैल):
सीएम योगी भले अपने विधायक के रेप कांड मामले पर अबतक चुप हैं, लेकिन यूपी बीजेपी में प्रवक्ता डॉक्टर दीप्ति भारद्वाज ने अपने ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और योगी सरकार की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से इस मामले में पार्टी और सरकार की छवि को बचाने की अपील की है। उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट अमित शाह और मोदी को किए। डॉक्टर दिप्ति भारद्वाज ने उन्नाव के घटनाक्रम को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए संगठन की 2019 की योजना पर पानी फेरने वाला बताया।

मतलब, लखनऊ में बैठे बीजेपी के नेता भी महसूस करने लगे हैं कि 2019 में बीजेपी की राह यूपी में आसान नहीं है।

एफआईआर दर्ज
बलात्कार का आरोप झेल रहे बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। पीड़िता की मां की तहरीर पर उन्नाव के माखी थाने में विधायक के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ है। विधायक कुलदीप सिंह के साथ एफआईआर में शशि सिंह भी नामजद है।

एक्शन में योगी सरकार...
- विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके समर्थकों पर दर्ज होगी FIR
- यूपी सरकार ने उन्नाव रेप कांड की जांच CBI से कराने की सिफारिश की
- पीड़िता के पिता के मौत की जांच भी CBI से कराने की सिफारिश की गई
- उन्नाव जिला अस्पताल के 2 डॉक्टर सस्पेंड किए गए
- दोनों डॉक्टरों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के आदेश
- जेल अस्पताल के 3 डॉक्टरों के खिलाफ भी कार्रवाई तय होगी
- जेल अस्पताल के 3 डॉक्टरों पर पीड़िता के पिता के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप है
- लापरवाही के आरोप में सीओ सफीपुर कुंवर बहादुर सिंह को भी निलंबित किया गया
- इन सबके अलावा पीड़िता के परिवार को सुरक्षा देने का फैसला लिया गया है