इस दिग्गज ने 17 साल खेलने के बाद लगाया था पहला शतक, अब भी है 'टीम विराट' के साथ

नई दिल्ली (15 जुलाई): उसने क्रिकेट में 17 साल बीताने के बाद पहला टेस्ट शतक लगाया। उसे 118 मैच खेलने के बाद टेस्ट टीम की कप्तानी मिली। वो अभी भी टीम इंडिया के साथ है। जी हां, हम बात कर रहे हैं टीम इंडिया के नए कोच अनिल कुंबले के बारे में... जो इस समय विराट सेना के साथ वेस्ट इंडीज पर विजय गाथा लिखने की रणनीति बनाने में लगे हैं।

कुंबले टीम इंडिया के ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिन्होंने अपने खेल से दुनियाभर के लोगों के साथ-साथ तमाम बड़े दिग्गजों का दिल जीता है और अपने खेल का लोहा मनवाया है। आइए जानते हैं कुंबले के बारे में कुछ रोचक तथ्य...

> अनिल कुंबले ने अगस्त 2007 में लंदन के ओवालिन में अपने करियर के 17 साल बाद पहला टेस्ट शतक लगाया था। > नवंबर 2007 में 118 मैच खेलने के बाद कुंबले को टेस्ट टीम की कप्तानी मिली थी। > 17 जनवरी, 2008 में पर्थ टेस्ट के दूसरे दिन एंड्रयू साइमंड्स का विकेट लेकर 600 टेस्ट विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया। > 1 फरवरी, 1999 में फिरोजशाह कोटला मैदान में पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में सभी 10 लेने का रिकॉर्ड बनाया था। > उनसे पहले एक पारी में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के जिम लेकर के नाम था। > 1996 में 105 टेस्ट और 61 एकदिवसीय विकेट लेकर विज्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर बने थे। > 12 मई, 2002 में एंटीगुआ में वेस्ट इंडीज के खिलाफ चौथे टेस्ट के तीसरे दिन टूटे जबड़े के साथ 14 ओवर की गेंदबाजी की थी। > दिसंबर 2003 में ऑस्ट्रेलिया में पहले टेस्ट में बाहर होने के बाद रहने के बाद तीन टेस्ट में 24 विकेट चटकाए थे। > 10 दिसंबर 2004 में ढाका में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेकर कपिल देव को पीछे छोड़ा था। > 2 नवंबर 2008 में श्रीलंका के खिलाफ दिल्ली टेस्ट के पांचवें दिन की दोपहर रिटायर होने का ऐलान किया।