''कश्मीर में एकजुट हों युवा, फयाज के कातिलों को उनके अंजाम तक पहुंचाएगी सेना''

नई दिल्ली ( 15 मई ): सेना लेफ्टिनेंट उमर फैयाज के कातिलों को उनके अंजाम तक पहुंचाएगी। यह बातें सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहीं।  सेना प्रमुख ने कश्मीर के युवाओं से लेफ्टिनेंट उमर फयाज की बर्बर हत्या के खिलाफ एकजुट होने का आह्वान किया है। जनरल रावत ने कहा कि युवाओं को यह अहसास होना चाहिए कि पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से राज्य का विकास अवरुद्ध हो रहा है।


सेना प्रमुख ने रविवार को एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि कश्मीर के कुछ युवाओं को सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों के जरिए सुरक्षा बलों और राज्य प्रशासन के खिलाफ भड़काया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह समय एकजुट होने और लेफ्टिनेंट फयाज की हत्या का विरोध करने का है।


जनरल रावत ने कहा, 'लेफ्टिनेंट फयाज कश्मीर घाटी के थे और उन्होंने एनडीए में दाखिले के लिए काफी मेहनत की थी। इसके बाद उन्हें पिछले साल दिसंबर में राजपूताना राइफल्स में कमिशन मिला था। फयाज बहादुर जवान थे। वह एक पारिवारिक शादी में शिरकत करने गए थे और आतंकियों ने उनकी बर्बर तरीके से हत्या कर दी।'


सेना प्रमुख ने कहा, 'कश्मीरी युवाओं को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए और इस घटना से सबक लेना चाहिए। उन्हें एक साथ बैठकर सोचना चाहिए कि क्या वे सही रास्ते पर हैं। युवाओं को जो आतंक फैला रहे हैं, उसको बेनकाब करना चाहिए।'


जम्मू-कश्मीर पुलिस ने फयाज की हत्या के पीछे हिज्बुल के तीन आतंकियों के हाथ होने की बात कही है। जनरल रावत ने कहा, 'हम खुफिया ऑपरेशन के जरिए इन तीनों आंतकियों और उसके स्थानीय मददगार के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।'