हरसिमरत कौर ने नवजोज सिंह सिद्धू को बताया पाकिस्तानी एजेंट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (29 सितंबर): भाजपा सरकार में मंत्री हरसिमरत कौर ने पाकिस्तान से लौटकर कांग्रेस नेता नवजोज सिंह सिद्धू पर हमला बोला है। हरसिमरत ने नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तानी एजेंट बताया है। उन्होंने कहा कि सिद्धू उस जनरल से गले मिलते हैं जो हमारे लोगों को मारता है। उन्होंने कहा कि सिद्धू ने उनके साथ तीन दिन तक समय बिताया है। यही नहीं उनकी आतंकी के साथ उनकी आई फोटो को पूरी दुनिया देख रही है।  

पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर समारोह में भाग लेकर लौटीं कौर ने कहा, 'अभी तक सिद्धू पाकिस्तान से लौटे क्यों नहीं हैं? इस सबके पीछे कांग्रेस जिम्मेदार है। उनके मंत्री पाकिस्तान जाते हैं और वहां के सेना चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिलते हैं।' बता दें कि इससे पहले हरसिमरत कौर ने पाकिस्तान से लौटते हुए भी सिद्धू पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था, 'मैंने नोटिस किया कि वहां सिद्धू को भारत से ज्यादा प्यार और अहमियत मिल रही थी। उनकी वहां कुछ अच्छे संबंध हैं।'
पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला रखे जाने के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद कौर और उनके कैबिनेट सहयोगी हरदीप सिंह पुरी बुधवार की शाम देश लौट आए। दोनों केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार के प्रतिनिधियों के रूप में पाकिस्तान सरकार के कार्यक्रम में शामिल हुए। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी वहां निजी हैसियत में मौजूद थे।  

सीमा पार करके अमृतसर में प्रवेश करने के बाद कौर ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने करतारपुर गुरुद्वारे में बर्तन धोकर सेवा की। पुरी ने कहा कि उन्हें आशा है कि भारत-पाकिस्तान सीमा के दोनों ओर करतारपुर गलियारा बनाने में अब कोई रोड़ा नहीं आएगा। कौर और पुरी दोनों बुधवार की सुबह अटारी-वाघा सीमा से होते हुए पाकिस्तान गए थे।
यह कॉरिडोर करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ेगा। भारत ने 20 साल पहले इस कॉरिडोर को बनाने का प्रस्ताव दिया था। बता दें कि भारत सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान के कदम की सराहना की है, लेकिन साथ ही साफ किया है कि आतंकवाद पर लगाम तक बातचीत की प्रक्रिया शुरू नहीं होगी। पाकिस्तान ने गलियारे के आधारशिलाकार्यक्रम के लिए सिद्धू के साथ-साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को न्योता दिया था। अमरिंदर ने पाकिस्तानकरतारपुर का न्योता ठुकरा दिया।
बता दें कि सिखों के पहले गुरु और पंथ के संस्थापक नानक देव जी ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष करतारपुर में ही गुजारे थे। पाकिस्तान में करतारपुर गलियारे की आधारशिला रखने के कार्यक्रम में शामिल होने गईं कौर वहां करतारपुर गुरुद्वारे से अपने पति और शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के लिए फूलों का प्रसाद और चपातियां भी लाई हैं। बता दें कि इससे पहले हरसिमरत कौर ने पाकिस्तान से लौटते हुए भी सिद्धू पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था, 'मैंने नोटिस किया कि वहां सिद्धू को भारत से ज्यादा प्यार और अहमियत मिल रही थी। उनकी वहां कुछ अच्छे संबंध हैं।'