AFSPA असम, मेघालय से पूरी तरह हटा, अरुणाचल में आंशिक रूप से रहेगा लागू

नई दिल्ली(24 अप्रैल): सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम यानी अफस्पा असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों से पूरी तरह हटा दिया गया है। अरुणाचल प्रदेश में असम से लगती सीमा के आठ पुलिस स्टेशनों और म्यांमार से लगती सीमा के तीन जिलों तक इसे सीमित कर दिया गया है।

- गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। अफस्पा के तहत सुरक्षा बलों को बिना पूर्व चेतावनी के अभियान चलाने और किसी की गिरफ्तारी का अधिकार होता है।

- अधिकारियों ने बताया कि मेघालय की सुरक्षा स्थिति में उल्लेखनीय सुधार को देखते हुए वहां 31 मार्च से अफस्पा पूरी तरह से हटाया जा चुका है। पिछले साल 2017 में वहां उग्रवाद की सबसे कम घटनाएं हुई हैं। चार साल से हिंसा में गिरावट जारी है। ऐसा दो दशकों में पहली बार देखने को मिला है। वर्ष 2000 की तुलना में 2018 में 85 प्रतिशत कम हमले हुए।

- गृह मंत्रालय के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश में इस विवादित कानून को असम से लगती सीमा के 16 पुलिस स्टेशनों से घटाकर आठ में सीमित कर दिया गया है। इसके अलावा तीन जिलों तिरप, चांगलांग और लांगदिंग जिलों में यह कठोर कानून लागू है।