#Budget2019: इनकम टैक्स स्लैब में नहीं हुआ कोई बदलाव, 2 करोड़ से ज्यादा की आमदनी पर देना होगा सरचार्ज

Income TaxImage Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 जून): वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का आम बजट पेश किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक परंपरा से अलग हटते हुए बजट दस्तावेज को ब्रीफकेस में न लेकर एक लाल रंग के कपड़े में रखा और उसके ऊपर अशोक चिन्ह लगा था। इस पर सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार के. सुब्रमण्यन का कहना है कि वित्त मंत्री ने लाल रंग के कपड़े में बजट दस्तावेज को रखा है। यह एक भारतीय परंपरा है. यह पश्चिमी विचारों की गुलामी से निकलने का प्रतीक है। यह बजट नहीं है, 'बही खाता' है। प्रचंड बहुमत के बाद लगातार दूसरी बार सरकार बनाने के बाद मोदी सरकार का ये पहला बजट है। बजट से जरिए मोदी सरकार ने जहां ज्यादा कमाने वाले लोगों पर थोड़ा बोझ बढ़ाने का काम किया है। वहीं गरीब, किसान और कम कमाने वाले लोगों को राहत देने की कोशिश की है। वहीं नौकरी पेशा यानी मध्यम वर्ग को इस बजट से कोई खास राहत मिलती नहीं दिख रही है। बजट 2019 में इनकम टैक्स स्लैब में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। फरवरी में अंतरिम बजट में ऐलान किया गया था कि पांच लाख से कम आए वालों को इनकम टैक्स से छूट दी गई थी। 

अभी मौजूदा इनकम टैक्स स्लैब इस प्रकार है...

- 2.5 लाख रुपए तक – 0 फीसदी 

2.5 से 5 लाख रुपए- 5 फीसदी 

5 से 10 लाख रुपए- 20 फीसदी 

10 लाख से अधिक- 30 फीसदी है

वहीं दूसरी ओर इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को लेकर लिये गये कर्ज पर ब्याज भुगतान में 1.5 लाख रुपये की आयकर छूट दी जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए ऐलान किया कि दो करोड़ से पांच करोड़ रुपये और पांच करोड़ रुपये से अधिक की कर योग्य आय वाले करदाताओं पर अधिभार बढ़ाया गया। इस वृद्धि से उनकी प्रभावी कर दर क्रमश: तीन प्रतिशत और सात प्रतिशत बढ़ जायेगी। इसके अलावा बैंकों से एक साल में एक करोड़ रुपये की अधिक की निकासी पर अब दो फीसदी टीडीएस लगेगा। यानी, बैंकों से एक करोड़ रुपये से ज्यादा की निकासी करने पर दो फीसदी कर चुकाना पड़ेगा। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए एक साल में एक करोड़ रुपये से ज्यादा की निकासी पर दो फीसदी टीडीएस लगाने की घोषणा की। बजट में जहां एक ओर सोना-चांदी, पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाने की घोषणा की गई, वहीं कुछ विशेष इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स उपकरणों के कंपोनेंट पर कस्‍टम ड्यूटी को समाप्‍त किया गया है। इसके अलावा  देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री को बढ़ाने के लिए पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर एक रुपए प्रति लीटर का विशेष अतिरिक्‍त एक्‍साइज ड्यूटी और इतना ही रोड एंड इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर उपकर लगाने की बात कही है। इससे पेट्रोल-डीजल अब दो रुपए प्रति लीटर महंगा हो जाएगा। इसके अलावा वित्‍त मंत्री ने भारत में न बने रक्षा उपकरणों के आयात पर बेसिक कस्‍टम ड्यूटी से राहत देने की घोषणा की हे। इसके अलावा उन्‍होंने आयातित पुस्‍तकों पर 5 प्रतिशत कस्‍टम ड्यूटी लगाने की घोषणा की है। इससे अब आयातित किताबें भी महंगी जो जाएंगी। वित्‍त मंत्री ने ऑटो पार्ट्स, ऑप्‍टीकल फाइबर, डिजिटल कैमरा, काजू, कुछ सिंथेटिक रबड़, विनाइल फ्लोरिंग पर बेसिक कस्‍टम ड्यूटी को बढ़ाने की घोषणा की है।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया है कि 400 करोड़ रुपए तक के टर्नओवर वाली कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना होगा। इसके तहत देश की 99 फीसदी कंपनी आ जाएंगी। ई वाहनों पर GST को 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी किया जाएगा। इसके साथ ही स्टार्टअप के लिए बड़ी छूट का ऐलान है। स्टार्ट अप को एंजल टैक्स नहीं देना होगा, साथ ही आयकर विभाग भी इनकी जांच नहीं करेगा। अगर कोई भी व्यक्ति बैंक से एक साल में एक करोड़ से अधिक की राशि निकालता है तो उसपर 2 फीसदी का TDS लगाया जाएगा। यानी सालाना 1 करोड़ रुपये से अधिक निकालने पर 2 लाख रुपये टैक्स में ही कट जाएंगे। ITR के लिए मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। अब आधार कार्ड से भी लोग अपना इनकम टैक्स भर पाएंगे। यानी अब पैन कार्ड होना जरूरी नहीं है, पैन और आधार कार्ड से काम हो जाएगा। मिडिल क्लास के लिए मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। अब 45 लाख रुपये का घर खरीदने पर अतिरिक्त 1.5 लाख रुपये की छूट दी जाएगी। हाउसिंग लोन के ब्याज पर मिलने वाली कुल छूट अब 2 लाख से बढ़कर 3.5 लाख हो गई है। इसके अलावा 2.5 लाख रुपये तक का इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने पर भी छूट दी जाएगी।