'श्रम सुधारों में एकतरफा कार्यवाही है हड़ताल का कारण'

नई दिल्ली (2 अगस्त): सेंट्रल ट्रेड यूनियन ऑर्गेनाइजेशंस का कहना है कि सरकार ने उनकी 12 सूत्री मांगों पर ध्यान नहीं दिया है और सरकार एकतरफा तरीके से श्रमसुधार लागू कर रही है। इसके विरोध में देशभर के श्रम संगठन कार्य का बहिष्कार कर रहे हैं।

अस्पताल और पावर प्लांटकर्मी भी हड़ताल में शामिल होंगे लेकिन यह विरोध इनके सामान्य कामकाज को प्रभावित नहीं करेगा।  ट्रेड यूनियन कोऑर्डिनेशन कमेटी के महासचिव एसपी तिवारी ने कहा कि इस बार औपचारिक और अनौपचारिक क्षेत्रों के 18 करोड़ के करीब श्रमिक सरकार की उदासीनता के विरोध में सड़कों पर उतरेंगे।