कारों पर अब यूनीफॉर्म टैक्स लगाने की तैयारी में सरकार

नई दिल्ली(21 अप्रैल): सड़क परिवहन एवं हाईवे मंत्रालय ने एक प्रस्ताव रखा है जिसमें नई कारों पर यूनीफॉर्म टैक्स लगाने की बात कही गई है। मंत्रालय के इस कदम के पीछे की वजह अलग-अलग पुर्ज़ों पर अलग-अलग लगने वाला टैक्स स्ट्रक्चर को समान दाम पर लाना है, इसके साथ ही लोगों को कम टैक्स देकर कार रजिस्टर करने से भी रोकना है जो टैक्स व्यवस्था शहरों में तुलनात्मक तरीके से ज़्यादा है। 

- सड़क परिवहन एवं हाईवे मंत्रालय ने एक और प्रस्ताव रखा है जिसमें यूनीफॉर्म वन नेशन वन पर्मिट स्ट्रक्चर शुरू करने की बात कही गई है जो वाणिज्यिक वाहनों के लिए है। इससे मालवाहक वाहनों के सामान जाने-ले जाने में काफी आसानी होगी और उन्हें यह काफी सहूलियत देने वाला है।

- नई यूनीफॉर्म टैक्स व्यवस्था से पूरे भारत में जहां कार और एसयूवी के साथ तीन पहिया वाहनों के कुछ पूर्ज़े महंगे होने वाले हैं, वहीं कुछ पुर्ज़ों की कीमतों में कटौती होना संभव है। इस यूनीफॉर्म टैक्स व्यवस्था के लागू हो जाने पर जहां मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों कारों की कीमतों में कमी आएगी, वहीं दिल्ली जैसे शहरों में इससे कारों की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा सकती है। इसका मतलब ये हुआ कि पुरानी कारों का अंतर्राज्यीय का फिलहाल स्थानांतरण करने में काफी लंबा समय लगता है और इस व्यवस्था के लागू होने पर यह काफी आसान हो जाएगा।