यूपीआई ने 10 लाख हिट्स को किया पार, हुआ 457 करोड़ का लेन-देन

नई दिल्ली ( 27 दिसंबर ): पीएम मोदी का लक्ष्य देश को कैशलेस इकॉनमी की तरफ ले जाने का है। इसी को लेकर सरकार ने यूपीआई नाम का ऐप भी लॉन्च किया है। जिसके जरिए आप आप सब्जी-साबुन से लेकर टूथपेस्ट-चाय तक खरीद सकते हैं।  

रिपोर्ट के मुताबिक यूपीआई (एकीकृत भुगतान इंटरफेस) के माध्यम से दिसंबर के महीने में 10 लाखों ने ट्रांजेक्शन किया है। इसके अलावा एसबीआई ने नया ऐप एसबीआई पे (SBI Pay) लॉन्च किया था। इस स्टेट बैंक के यूपीआई एप को अब तक 5 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है।

रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया के मुताबिक 1 दिसंबर से लेकर 22 दिसंबर के बीच यूपीआई के जरिए 457.07 करोड़ का ट्रांजेक्शन हुआ है जो नवंबर के महीने के केवल 90.5 करोड़ था।

8 नवंबर को नोटबंदी के बाद से यूपीआई के तहत किए जाने वाले ट्रांजैक्शन यह बहुत बड़ा इजाफा है।

यूपीआई यानी यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस एक ऐसा पेमेंट सिस्टम है जिसे किसी भी ऐप का हिस्सा बनाया जा सकता है। इसे बनाने वाली एजेंसी NPCI यूपीआई प्लेटफॉर्म का लाइसेंस देती है। जिससे बैंकों को ही यूपीआई सिस्टम का इस्तेमाल करने की इजाजत मिलती है। यूपीआई एप्लीकेशन से अब तक 30 बैंक जुड़ चुके हैं जिनमें से 20 बैंकों ने यूपीआई एप्लीकेशन बनाकर जारी भी कर दिए हैं।

आपको बता दें कि ICICI बैंक ने अपने पुराने एप iMobile में ही यूपीआई को मिला लिया है, जबकि एसबीआई ने नया ऐप एसबीआई पे (SBI Pay) लॉन्च किया है। इसी तरह एक्सिस पे, पीएनबी यूपीआई, एचडीएफसी में यूपीआई एप्लीकेशन काम कर रहे हैं।

क्या है UPI ऐप?

यूपीआई मतलब यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस पैसे भेजने का एक सिस्टम है। अभी तक ऑनलाइन neft, rtgs, imps सिस्टम के जरिये पैसे भेजा जाता था जिसके लिए नेट बैंकिंग की डिटेल भरनी होती थी, वनटाइम पासवर्ड लेना होता था लेकिन यूपीआई इनसे एडवांस तरीका है। इस पेमेंट सिस्टम को इतना आसान बनाया गया है कि कोई भी आसानी से इस्तेमाल करके पैसे भी ट्रांसफर कर सकता है और खरीदारी करके पेमेंट भी कर सकता है।