Blog single photo

देख लो इमरान, भारत कश्मीरियों पर नहीं पाकिस्तान कर रहा है कादियानियों पर जुल्म!

संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन का झूठा मामला उठाने वाले पाकिस्तान को अब अपने ही देश के एक समुदाय के अधिकारों के उल्लंघन और अत्याचार के मामले में उसे अब यूएनएचआरसी

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 अक्टूबर): संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन का झूठा मामला उठाने वाले पाकिस्तान को अब अपने ही देश के एक समुदाय के अधिकारों के उल्लंघन और अत्याचार के मामले में उसे अब यूएनएचआरसी के कटघरे में खड़ा होना पड़ेगा। दरअसल, इस्लाम में सुधार की वकालत करने वाले कादियानी मुसलमानों को पाकिस्तान सरकार ने 1974 में गैर इस्लामिक घोषित कर उन पर दमन चक्र शुरू कर दिया था। कादियानियों पर हो रहे अत्याचारों को लेकर दुनिया भर में काफी बावेला हो चुका है। कई बार की कोशिशों के बाद अब  कादियानी समुदाय के मानवाधिकारों का मुद्दा संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में उठेगा और इस पर बहस भी होगी। इस पर बहस होने के बाद पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की भी संभावना है। इसी बात को लेकर पाकिस्तान में बेचैनी फैली हुई है। क्यों कि इसमें पाकिस्तान सरकार से ज्यादा उलेमाओं को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ेगा। क्यों कि कादियानी समुदाय को गैर-इस्लामी घोषित करने का मुख्य फैसला उन्हीं उलेमा के आधार पर किया गया था।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में अलग-अलग मतों को मानने वाले उलेमाओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से मिले।कादियानी खुद को मुस्लिम मानते हैं लेकिन इस्लाम से जुड़े कुछ बुनियादी मुद्दों पर मतभेद के बाद पाकिस्तान में इन्हें 1974 में गैरमुस्लिम घोषित कर दिया गया था। इसके बाद से ही पाकिस्तान में इनके मानवाधिकारों के हनन के मुद्दे सुर्खियां बनते रहे हैं।

कुरैशी से मिलने गए उलेमा अब पाकिस्तान सरकार पर दबाव बना रहे हैं कि किसी भी तरह कादियानियों की आवाज को दबाया जाये। लेकिन अब कहानी का सिरा पाकिस्तान सरकार के हाथ में नहीं बल्कि संयुक्त राष्ट्र के हाथ में है। ऐसा कहा जाता है कि जब सरकार ने उलेमा का प्रतिनिधिमण्डल के सामने अपनी मजबूरी बतायी तो उलेमा के प्रतिनिधिमण्डल ने सरकार को चेतावनी भी दी कि अगर कादियानियों के खिलाफ सरकार ने ठीक से मामला नहीं उठाया तो पाकिस्तान में हालात गंभीर हो जायेंगे।बलूच, सिंधियों और पश्तूनों के बाद कादियानी ही ऐसे हैं जिनके मामले पर पाकिस्तान चारों ओर से घिर गया है। और अब संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार परिषद में उसके खिलाफ कार्रवाई के आसार बन चुके हैं।

Images Courtesy: Google

Tags :

NEXT STORY
Top