विमान से 1 सिख और 3 मुस्लिमों को ज़बरन उतारा, किया 90 लाख डॉलर का मुकदमा

नई दिल्ली (19 जनवरी) :  एक सिख और उसके तीन मुस्लिम दोस्तों को अमेरिकन एयरलाइंस की फ्लाइट से उतार दिया गया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि उनकी मौजूदगी से फ्लाइट का कैप्टन सहज महसूस नहीं कर रहा था। अब इन चारों ने एयरलाइन पर 90 लाख डॉलर का मुकदमा दायर किया है। मुकदमा ब्रुकलिन फे़डेरल कोर्ट में दाखिल किया गया है। 

शान आनंद सिख हैं। उन्होंने फैमुल आलम समेत तीन दोस्तों के साथ बीते महीने टोरोंटो से न्यूयॉर्क जाने वाली फ्लाइट 44718 के लिए बुकिंग कराई थी। इन चारों में से एक बांग्लादेशी और एक अरब मूल का है। इनकी पहचान सिर्फ बतौर डब्ल्यूएच और एमके की गई। चारों युवा अमेरिकी नागरिक हैं। इन चारों को ही विमान से उतरने का आदेश दिया गया।

बताया गया कि विमान पर शान आनंद और फैमुल आलम ने दूसरे यात्रियों से अपनी सीट बदल ली थीं जिससे कि वे डब्ल्यूएच और एमके के साथ विमान पर बैठ सकें। मुकदमे के साथ दर्ज शिकायत में कहा गया कि कुछ मिनट बाद एक फ्लाइट अटैंडेंट महिला ने डब्ल्यू एच से विमान से उतरने के लिए कहा। जब उन्होंने पूछा कि ऐसा क्यों किया जा रहा है तो फ्लाइट अटैंडेंट ने कहा कि वे शांति से दरवाज़े तक चले जाएं और वहां अगले निर्देश का इंतज़ार करें।

डब्ल्यू एच के मुताबिक उन्हें ऐसा लगा कि जैसे वे अपराधी हों। साथ ही ऐसा लगा कि जैसे सभी मेरी तरफ़ उंगली कर रहे हों।

चारों को उतारने के बाद ही विमान ने टेकऑफ किया। एक फ्लाइट एजेंट ने बाद में चारों को बताया कि क्रू मेम्बर्स विशेष तौर पर कैप्टन उनकी मौजूदगी से असहज थे। उन्होंने तब तक विमान उड़ाने से मना कर दिया था जब तक कि चारों को विमान से उतार नहीं दिया जाता।