गटर में घुसकर काम करेंगे इंजीनियर, BBA, MA पास!

गाजियाबाद (22 अगस्त): बेरोजगारी को वजह मानें या सरकारी विभागों में नौकरी की चाह, आलम ऐसा है कि बीटेक, एमटेक  की डिग्री हासिल कर चुके युवा संविदा सफाई कर्मी की नौकरी करने के लिए भी तैयार हैं। इंजीनियर बनने के सपने को छोड़ वह हाथों में झाड़ू उठाने से गुरेज नहीं कर रहे।

पूरे प्रदेश में 40 हजार संविदा सफाईकर्मियों की भर्ती होनी है। नगर निगम गाजियाबाद में 2317 संविदा सफाई कर्मचारियों की भर्ती होनी है। इसके लिए हज़ारो की संख्या में ऐसे युवाओं ने आवेदन किया है जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे  हैं या कर चुके हैं। वहीं, एमए, बीए और बीकॉम अभ्यर्थियों की संख्या भी कम नहीं है।

बेरोजगारी का हाल ऐसा है कि गटर में घुसकर काम करने को तैयार हैं इंजीनियर, BBA, MA पास। बेरोजगारी की वजह से बनी मजबूरी के चलते गाज़ियाबाद में बेरोजगारों की कतार लगी है। इनमे अधिकतर पढ़े लिखे हैं। यहाँ तक की बी बी ए , बी सी ए , इंजीनियरिंग कर रहे छात्र और कर चुके युवा भी शामिल है। 

गाज़ियाबाद में संविदा सफाई कर्मचारी भर्ती निकली है! इनमे 2317 कर्मचारियों की भर्ती होनी है! इसके लिए अब तक 30 हज़ार आवेदन आ चुके हैं। 2317 सफाई कर्मचारियों को भर्ती में 50 फीसदी सीटें एससी-एसटी कोटे के लिए आरक्षित हैं। इन 2317 पदों के लिए यूपी, दिल्ली, उत्तराखंड और हरियाणा से भी आवेदन काफी पहुंच रहे हैं। यह भर्ती स्थायी पदों के लिए नहीं बल्कि संविदा कर्मचारियों की है और वेतन भी इसमें ज्यादा नहीं है। संविदा सफाई कर्मचारी को करीब 15 हजार रुपये मासिक वेतन दिया जाएगा।