इटली के गिरफ्तार नौसैनिक मामले में यूएन ने दिया यह फैसला

नई दिल्ली (2 मई): भारतीय मछुआरों की हत्या के आरोप में भारत की जेल में बंद इटली के नौसैनिक को संयुक्त राष्ट्र की एक कोर्ट ने रिहा करने और अपने देश वापस भेजने का आदेश दिया है। हालांकि भारत सरकार का कहना है कि ये फैसला उसके लिए कोई झटका नहीं है, क्योंकि इस मामले में आखिरी फैसला भारत के सुप्रीम कोर्ट को ही करना है।

इटली का ये नौसैनिक पिछले 4 साल से भारत की कैद में है। 2012 में केरल तट के पास अपने दो मछुआरों की हत्या के आरोप में इटली के दो नौसैनिकों मासीमिलानो लातोरे और सल्वातोरे गिरोन को गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद स्वास्थ्य कारणों से मासीमिलानो लातोरे को इटली वापस जाने की इजाजत मिल गई, लेकिन गिरोन अब भी भारत की कैद में है।

इटली इस मामले को संयुक्त राष्ट्र में ले गया, जहां मध्यस्थता करने वाली एक कोर्ट ने इसपर सुनवाई की। इटली के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर रहा कि अपने अंतिम फैसले में कोर्ट ने व्यवस्था दी है कि गिरोन को उसके घर जाने की इजाजत मिलनी चाहिए। मंत्रालय ने कहा कि भारत से तुरंत संपर्क कर सुनिश्चित किया जाएगा कि गिरोन जल्द से जल्द वापस लौटे। कोर्ट इस मामले की मेरिट पर सुनवाई जारी रखेगा।