देशद्रोह के आरोपी खालिद ने मानी अफजल गुरु के समर्थन की बात

नई दिल्ली (24 फरवरी): देशविरोधी नारेबाजी के आरोपी उमर खालिद ने अफजल गुरु के समर्थन की बात मानी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में उमर खालिद ने माना किया उसने अफजल गुरु के समर्थन में बात कही थी।

जेएनयू मामले में उमर खालिद और अनिर्बान से दिल्ली पुलिस ने पूछताछ की है , बताया जा रहा है कि दोनो से पुलिस ने 20 सावाल पूछे हैं । देश विरोधी नारे लगाने के आरोपी जेएनयू के दोनो छात्रों ने पुलिस के सामने बीता रात सरेंडर कर दिया था। बताया जा रहा है कि इसके बाद पुलिस ने दोनो से 5 घंटों से भी ज्यादा पूछताछ की है। दिल्ली पुलिस ने उमर से पूछा कि  क्या इससे पहले भी जेएनयू में ऐसे नारे लगे हैं। इस कार्यक्रम में कौन-कौन मौजूद था। आपको सरेंडर करने से किसने मना किया था।

उमर खालिद को कहां रखना है इसका फैसला दिल्ली हाई कोर्ट करेगा। हाई कोर्ट ने कहा, ''हमें उनकी सिक्युरिटी सुनिश्चित करना होगा। उन्हें एक खरोंच भी न आए।'' 

पिछले दो दिनों से ये तमाम आरोपी जेएनयू कैंपस में छात्रों की सुरक्षा कवच के बीच गिरफ्तारी से बच रहे थे और पुलिस को इन आरोपी छात्रों की तलाश 12 फरवरी से थी। पुलिस और आरोपी के बीच लुकाछिपी का ये सिलसिला 21 फरवरी तक चला लेकिन 21 फरवरी को पांचों फरार आरोपी कैंपस लौट आए। इसके बाद गिरफ्तारी की तलवार इनपर लटकने लगी थी।

सरेंडर से पहले जेएनयू कैंपस में दो दिनों तक हाई वोल्टेज ड्रामा होता रहा। उमर अंदर था तो पुलिस और बीएसएफ बाहर। सरेंडर करने के बाद दोनों आरोपियों को पुलिस आज कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेने की कोशिश करेगी।

आइए अब हम आपको बताते हैं कि उमर और अनिर्बान ने कैसे किया सरेंडर और 23 फऱवरी को दिन भर क्या हुआ। हाइकोर्ट से अग्रीम राहत की अर्जी खारिज होने के बाद... 

दोपहर 2 बजकर 30 मिनट पर कैंपस के अंदर सभा चल रही थी और बाहर अचानक पुलिस की हलचल तेज हो गई। बीएसएप के जवान ने मोर्चा संभाल लिया, उमर और अनिर्बान के वकील कैंपस पहुंच चुके थे।

शाम 6 बजे कैंपस के बाहर पुलिस की हलचल फिर तेज हो गई। कैंपस के अंदर छात्र ज्यादा संख्या में उमर की सभा में पहुंचने लगे।

रात 9 बजे  उमर के सरेंडर करने की तैयारी चल रही थी, सादी वर्दी में पुलिस, आरोपी के वकील के बीच सरेंडर करने की जगह पर सहमति बन रही थी। ठीक उसी वक्त मेधा पाटेकर सभा को संबोधित कर रही थी।

रात 10 बजे  सरेंडर पर बातचीत का फाइनल राउंड खत्म हो गया था। बस इंतजार था सरेंडर करने का।

रात 11.40 बजे  जेएनयू कैंपस के सेक्यूरिटी की गाड़ी में बैठकर उमर और अनिर्बान सरेंडर करने के लिए बाहर निकले। 

रात 11.50 बजे  जेएनयू गेट के बाहर उमर और अनिर्बान को पुलिस के सुपुर्द किया गया।

रात 12 बजे  उमर और अनिर्बान को पुलिस आर के पूरम थाना लेकर पहुंची।

आर के पूरम थाने में पुलिस उमर और अनिर्बान से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने पहले से ही कई सवालात तैयार रखे हैं। कहा जा रहा है कि दोनों आरोपियों से 9 फरवरी की घटना पर पूरी जानकारी लेगी। देशविरोधी नारे के बारे में पूछेगी और 12 फरवरी से अबतक कहा आरोपी छिपे रहे इसके बारे में भी जानकारी लेगी। कॉल डीटेल्स और उमर के बाहरी लोगों के सम्पर्क के बारे में भी पूछा जाएगा।