सत्ता आती-जाती है, लेकिन राम मंदिर निर्माण जरूरी- उमा भारती

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 जुलाई): एकबार फिर राम मंदिर निर्माण का मुद्दा गरमात नजर आ रहा है। राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी के बीच देशभर के साधू-संत बीजेपी से लगातार नाराज होते दिख रहे हैं। आम चुनाव से पहले बीजेपी साधू-संतों की नाराजगी का जोखिम नहीं उठाना चाहती। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक अयोध्या का दौरा कर साधू-संतों से थोड़ा सब्र रखने की अपील की।

इसी कड़ी में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी आज अयोध्या पहुंची। साधू-संतों से बात करते हुए उमा भारती ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि सरकार तो आती-जाती रहती है, लेकिन राम मंदिर का निर्माण जरूरी है। जो इसके निर्माण के क्षण को गंवा देगा, वह भारत के इतिहास में अपना गौरव गंवा देगा। लेकिन अगर मंदिर निर्माण हुआ तो ये राष्ट्रीय धरोहर के लिए बड़ी बात होगी।उन्होंने कहा कि अयोध्या ने राम मंदिर निर्माण के एक बड़े विचारधारा के युद्ध को देखा है। केंद्र और प्रदेश में सरकार है, ऐसे में सबकी अपेक्षा है कि राम मंदिर निर्माण की बाधा दूर हो। मंदिर निर्माण के तीन रास्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला, आपसी बातचीत और संविधान में संसोधन है। इन तीन में महत्वपूर्ण राष्ट्रीय संकल्प और राष्ट्रीय संकल्प के तहत सबको साथ ले संविधान संशोधन कर सभी दलों के सहयोग से ही राम मंदिर का निर्माण हो, जिसने इस क्षण को गवाया वह भारत के इतिहास में गौरव गवायेगा। उन्होंने कहा कि सत्ता अपनी आनी-जानी माया है, हमें साहसिक निर्णय लेना चाहिए।