जिन राज्यों में शराबबंदी हुई उसके बहुत अच्छे परिणाम नहीं आए- CM रावत


देहरादून (2 अप्रैल): उत्तराखंड में शराब बेचने और शराब के सेवन पर रोक लगाने को लेकर लंबे समय से जद्दोजहद जारी है। इन सबके बीच राज्य ने नए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का मानना है कि जिन राज्यों में शराबबंदी हुई है उसके बहुत अच्छे परिणाम आए हैं, ऐसा नहीं है। मुख्यमंत्री रावत के इस बयान से साफ है कि फिलहाल उनका राज्य में शराबबंदी की कोई योजना नहीं है। यानी राज्य में शराब की ब्रिकी पहले की तरह ही होती रहेगी।  


इससे पहले पिछले दिनों राज्यपाल के अभिभाषण पर रखे गए धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए उन्होंने कहा था कि सरकार एक लंबी योजना के जरिये शराब को नियंत्रित करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता और सदन की मंशा से वह भलीभांति परिचित हैं और शराब को धीरे-धीरे कम किया जायेगा । इस संबंध में कई सदस्यों की ओर से जतायी गयी चिंता का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा था कि अगले पांच-सात साल के लंबी प्लानिंग से हम इसे नियंत्रित कर लेंगे। इसके लिये हम जनजागरण करेंगे और विभिन्न समुदायों के धार्मिक गुरूओं जैसे पंडित, पुरोहित, काजी और पादरियों का भी सहयोग लिया जायेगा।