गंगा की रक्षा करेंगे ब्रिटेन के भारतीय उद्योगपति

नई दिल्ली ( 28 नवंबर ): केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, जहाजरानी और जल संसाधन एवं नदी विकास मंत्री नितिन गडकरी ने ब्रिटेन की यात्रा पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने स्वच्छ गंगा अभियान के लिए ब्रिटिश कंपनियों को न्योता दिया। लंदन में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (आइजेए) के कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही। गडकरी ने कहा, 'हमारे पास गंगा सफाई से जुड़ी परियोजना के लिए काफी अच्छी योजना है, जिसके तहत 15 साल के रख-रखाव के आधार पर परियोजनाएं दी जा रही हैं। 

गडकरी ने कहा कि गंगा सफाई के लिए कुल 95 प्रोजेक्ट तैयार किए गए हैं। इनमें से 25 पर काम शुरू हो चुका है जबकि बाकियों के लिए टेंडर प्रक्रिया मार्च 2018 तक शुरू हो जाएगी। उनका कहना था कि इसमें 15 साल की मेंटीनेंस की शर्त पर कंपनियों को प्रोजेक्ट दिए जा रहे हैं। उनका कहना था कि गंगा व इसकी बीस सहायक नदियों के लिए सरकार के पास बेहतरीन योजना है। इसके अलावा कर्नाटक और तमिलनाडु में पानी की कमी का संकट दूर करने को लेकर गोदावरी नदी का अतिरिक्त पानी इस्लेमाल में लाने के लिए नदी जोड़ने की महत्वाकांक्षी परियोजना पर भी काम जारी है। 

इनमें पौधारोपन परियोजना से लेकर प्रदूषण रोधी उपाय शामिल हैं। उन्होंने आगे कहा, 'हमारे पास गंगा एवं उसकी 20 सहयोगी नदियों के लिए विशिष्ट प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के साथ काफी अच्छी योजना है। हमारा विचार गंगा के साथ भावनात्मक जुड़ाव वाली विभिन्न कंपनियों को जिम्मेदारियां देनी है। 

गडकरी ने इस कार्यक्रम के दौरान ब्रिटेन के परिवहन मंत्री क्रिस ग्रेलिंग के साथ अनौपचारिक बातचीत भी की। गडकरी ने बताया वह लंदन में चलने वाले रेड डबल डेकर बसों को भारत में उतारने के इच्छुक हैं, जो पर्यावरण के लिहाज से अनुकूल हैं।