सिंहस्थ कुंभ: दलित संतों के लिए स्नान के आयोजन का विरोध

उज्जैन (7 मई): सिंहस्थ कुंभ में दलित संतों के लिए स्नान के आयोजन को लेकर संतों का विरोध तेज हो गया है। द्वारिकापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने बीजेपी पर आरोप लगाए हैं और सवाल पूछा है कि समरसता के जरिए पार्टी नौटंकी क्यों कर रही है।

दरअसल, दलित संतों के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े एक संगठन ने 11 मई को समरसता और शबरी स्नान का आयोजन किया है। इसका आयोजन कुंभ के दौरान अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए अलग से किया जा रहा है। शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के अलावा पुरी पीठ के शंकराचार्य ने भी अपना विरोधदर्ज करवाया है।