महाकाल के दरबार में रिकॉर्ड चढ़ावा

उज्जैन (3 जनवरी): अब देशभर के तमाम मंदिरों पर नोटबंदी का असर खत्म होता दिख रहा है। मंदिरों में एकबार फिर से चढ़ावे में बढ़तरी देखी जा रही है। उज्जैन के महाकाल मंदिर में ऐसे तो सालों भर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है और लाखों रुपये चढ़ावे में आते हैं। लेकिन नोटबंदी का असर इस मंदिर पर भी देखा गया।


यहां नोटबंदी के बाद अचानक चढ़ावे में भारी कमी हो गई। लेकिन एक बार फिर से महाकाल के दरबार में चढ़ावे में बढ़ोतरी होने लगी है। महज दो दिन में यहां 20 लाख रुपये के ज्यादा का चढ़ावा चढ़ा। 31 दिसंबर और 1 जनवरी को लोगों ने दिलखोल का महाकाल के दरबार में चढ़ावा चढ़ाया। इनमें 7 लाख रूपये से ज्यादा का कैश शामिल है।