कर्नाटक: प्राचीन उडुपी श्री कृष्ण मठ में पहली बार हुआ इफ्तार का आयोजन

नई दिल्ली (26 जून): कर्नाटक के प्राचीन उडुपी श्री कृष्ण मंदिर ने हिंदू मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल पेश की है। बीते शनिवार मंदिर के अन्नब्रह्मा भोजन कक्ष में मुसलमानों के लिए इफ्तार का आयोजन किया गया। 150 मुसलमानों ने मंदिर में आयोजित इस इफ्तार पार्टी में हिस्सा लिया।


मठ के इतिहास में पहली बार ईद की पूर्व संध्या पर मुस्लिम समुदाय के लिए इफ्तार का आयोजन किया गया। इस इफ्तार दावत को 'सौहार्द उपहार कूट' के नाम से पर्याय पेजावर मठ द्वारा आयोजित किया गया।


इस मौके पर पर्याय पेजावर मठ के महंत विश्वेष तीर्थ स्वामी ने खुद अपने हाथों से मुसलमान रोजेदारों को नाश्ता कराया। इफ्तार की इस दावत में केले, सेब और तरबूज के साथ ही काजू के साथ काली मिर्च से बनी विशेष कशाया भी परोसी गई।


मंदिर में इस इफ्तार दावत के मौके पर वहां मौजूद विश्व हिंदू परिषद् से जुड़े एक महंत ने कहा- हर धर्म के मनुष्यों को एक साथ मिलकर सद्भाव से रहना चाहिए, मुझे हमेशा मुसलमानों का प्यार और साथ मिला है।


महंत ने कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों के लोगों से भी खास अपील की कि हम सब एक ही के संतान हैं, हम सबको मिलकर रहना चाहिए। उडुपी में अंजुमन मस्जिद के इमाम भी इस मौके पर मंदिर में मौजूद रहे।