'मोदी का चमचा कहलाने में कोई शर्म नहीं'

नई दिल्ली(9 जून): शाहिद कपूर की आनेवाली फिल्म 'उड़ता पंजाब' को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। सेंट्रल फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने इस फिल्म के निर्माता अनुराग कश्यप की आलोचनाओं को खारिज करते हुए उन्हें आम आदमी का एजेंट बताया है।

एक टीवी चैनल से बातचीत में निहलानी ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चमचा कहलाने में कोई शर्म नहीं है। दरअसल, निहलानी पर ऐसे आरोप लगे हैं कि उन्होंने राजनीतिक दबाव में आकर फिल्म में काट-छांट वाला कदम उठाया है, जिसके बाद उन पर मोदी का चमचा होने के आरोप लगे हैं।

इस विवाद के बीच सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी के बेटे और बहू भी खुद को फंसा हुआ पा रहे हैं। चिराग निहलानी और राधिका निहलानी किसी ने किसी रूप में फिल्म से जुड़े हैं। एक ओर जहां चिराग बालाजी मोशन पिक्चर्स में क्रिएटिव प्रोड्यूसर के तौर पर काम करते हैं, वहीं वे उड़ता पंजाब के ट्रेलर सहित प्रमोशनल मैटेरियल पर काम कर रहे हैं। दूसरी ओर उनकी पत्नी राधिका निहलानी भी इस फिल्म की मार्केटिंग टीम का हिस्सा हैं।

पहलाज निहलानी ने कहा कि कश्यप को अपनी फिल्म में परिवर्तन कर बोर्ड के पास आना चाहिए था, लेकिन वह मीडिया के पास चले गए। दरअसल वो प्रचार पाने का स्टंट कर रहे हैं। निहलानी ने कहा कि फिल्म में जब पात्र काल्पनिक हैं तब वे शहरों का सही नाम क्यों दे रहे हैं? मैं दिशानिर्देशों के मुताबिक काम कर रहा हूँ। उन्होंने राजनीतिक दबाव के आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि कश्यप के अनुसार मैं तानाशाह हूं, तब इस मुद्दे में राजनीति कहां से आ गई? निहलानी ने इसे प्रचार का हथकंडा बताया। गौरतलब है, निहलानी ने आरोप लगाया था कि निर्माता अनुराग कश्यप ने आम आदमी पार्टी से पैसे लेकर मादक पदार्थों से जुड़ी कहानी पर फिल्म बनाई है।