उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- नोटबंदी के बाद शहीद हुए सैनिकों की संख्या बताए सरकार

नई दिल्ली ( 10 जनवरी ): शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जमकर हमला बोला है। उद्धव ने सामना के संपादकीय में लिखा है कि नोटबंदी के बाद कश्मीर घाटी में आतंकवाद में 60 से 70 प्रतिशत तक गिरावट की जानकारी सेना की तरफ से दी गई। लेकिन 24 घंटे में जम्मू-कश्मीर के अखनूर क्षेत्र में बड़ा आतंकी हमला हुआ और उसमें 3 लोगों की मृत्यु हो गई।

उद्धव ने कहा कि सोमवार सुबह आतंकवादियों ने जनरल रिसर्व इंजीनियरिंग फ़ोर्स (जी आर ई ऍफ़) के ठिकानों को निशाना बनाया। समवर्ती क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण और देखभाल करनेवाली बॉर्डर रोड्स ऑर्गेनाइजेशन जी आर ई ऍफ़ के मातहत काम करती है। उसी ठिकानों पर आतंकवादियों ने गोलीबारी करते हुए हमला किया।

उन्होंने कहा कि आतंकवादी पहले सार्वजनिक स्थलों पर हमले करते थे। अब वे सीधे हमारी सेना के ठिकानों पर हमले करते हैं और उसमें हमारे जवान मारे जाते हैं। उद्धव ने सवाल किया है कि नोट बंदी के बाद क्या यही परिवर्तन आया है?

नोटबंदी से जो फायदा हुआ उनमें आतंकवादियों को उखाड़ कर फेकना पहले नंबर था, लेकिन 8 नवम्बर के बाद मणिपुर जैसे राज्य में आतंकवादी घटनाएं बढ़ी और वह भी सेना के अड्डों पर हमले हुए। उद्धव ने पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह अच्छा है कि नोटबंदी के बाद से प्रधानमंत्री का एक भी बड़ा विदेशी दौरा नहीं हुआ। बाकी शेष अन्य स्तरों पर कुछ ख़ास होता नज़र नहीं आ रहा है।

उद्धव ने अपने सम्पादकीय में सेना को राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला। राजनीतिज्ञ और सत्ताधारी पार्टी अपने स्वार्थ के लिए सेना को राजनीति में खींच रहे हैं। इससे सेना प्रमुख को सावधान रहना होगा। पाकिस्तान पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद संघ की सीख की वजह से ही रक्षा मनोहर पर्रिकर यह सारा युद्ध के तरीके अपना रहे हैं। और उत्तर प्रदेश चुनाव सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय सेना को देने के बजाए भाजपा वाले खुद लेते हैं।

उद्धव ठाकरे ने मोदी सरकार से मांग की है कि नोटबंदी के बाद शहीद हुए सैनिकों का सही आंकड़ा जारी करे। नोटबंदी की राजनीति बंद होनी चाहिए।