महिला ब्लॉगर ने दी जान, डॉक्टर पति और ससुर पर वर्जिनिटी टेस्ट कराने का आरोप

नई दिल्ली (7 जून) :  उदयपुर की एक ब्लॉगर ने पति की शक की बीमारी से तंग आकर खुदकुशी कर ली। कर्णिका ने पति और ससुर पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर बीते गुरुवार को फंदा लगाकर जान दे दी। सुसाइड नोट के आधार पर उदयपुर पुलिस ने डॉक्टर भारत गाधवी और उनके बेटे डॉ हिमांशु को गिरफ्तार कर लिया है। जहां डॉक्टर भारत गाधवी मेडिकल ऑफिसर हैं वहीं डॉक्टर हिमांशु डेंटिस्ट हैं। मृतक के पिता ने दोनों पर मानसिक प्रताड़ना, वर्जिनिटी टेस्ट कराने का आरोप लगाया है।

कर्णिका ब्लॉग राइटिंग का काम करती थी। महिला के पिता भारतेंद्र सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि उसकी बेटी अपने पति के शक की बीमारी से परेशान थी, जिस कारण उसने आत्महत्या कर ली। शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी धारा 306 और 498 के तहत मामला दर्ज किया है।

कर्णिका और हिमांशु की शादी इसी साल 25 जनवरी को हुई थी। हिमांशु मूलत: पोरबंदर का रहने वाला है और उसके पिता भरत पोरबंदर में ही सीएमएचओ हैं। हिमांशु गीतांजलि हॉस्पिटल में डेन्टिस्ट है। कर्णिका और हिमांशु फ्लोरा कॉम्पलैक्स स्थित उदय टावर के फ्लैट में रहते थे, जहां गुरुवार को कर्णिका पंखे से फंदा डालकर जान दे दी। कर्णिका के परिवार वालों के मुताबिक हिमांशु और उसके माता-पिता ने कर्णिका को शादी के तत्काल बाद ही परेशान करना शुरू कर दिया था। इनके मुताबिक हिमांशु बहुत ज्यादा शकी मिजाज का था और कर्णिका कहीं जाए तो वह उसे फोन करके उसकी लोकेशन पूछता था और गूगल सर्च से लोकेशन वाट्स-एप करने को कहता था। कर्णिका पर जॉब छोड़ने के लिए भी दबाव बनाया जाता था।

पिछले दिनों कर्णिका-हिमांशु पोरबंदर गए तो वहां पर उन लोगों ने कर्णिका की मर्जी के बगैर उसका वर्जिनिटी टेस्ट भी कराया। इन सब बातों से आखिर परेशान होकर कर्णिका ने गुरुवार को खुदकुशी कर ली।  कर्णिका के पिता के मुताबिक उसने यूएसए में रह रहे कुछ दोस्तों को अपनी परेशानी बताई थी। साथ ही कहा था कि अब वो ये सब कुछ और बर्दाश्त नहीं कर सकती और तलाक लेना चाहती है