वीजा बैनः ट्रंप के आदेश को यएई ने दिया खुलकर समर्थन

नई दिल्ली (2 फरवरी):  अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के 7 मुस्लिम देशों के नागिरकों पर वीजा बैन लगाने का संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने खुलकर समर्थन किया है। यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्लाह बिन जाएद अल नहयान ने ट्रंप के बैन का समर्थन करते हुए कहा कि यह बैन मुस्लिमों के खिलाफ नहीं है। शुक्रवार को ट्रंप की ओर से हस्ताक्षर की गई नई वीजा नीतियों के मुताबिक 7 मुस्लिम बाहुल्य देशों के लोगों को 90 दिनों तक वीजा देने पर रोक लगा दी गई थी। इसके अलावा सीरिया से आने वाले शरणार्थियों की एंट्री भी अगले आदेश तक रोक दी गई है।

 इस आदेश के तहत 7 मुस्लिम देशों ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के नागिरकों पर वीजा पाबंदियां लगा दी गई हैं।

ट्रंप के इस बैन का अमेरिका समेत पूरी दुनिया में जबर्दस्त विरोध हो रहा है। यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्लाह ने कहा कि अमेरिका अपनी सीमा के भीतर 'संप्रभु फैसला' लेने के लिए स्वतंत्र है। ट्रंप के बैन के बाद पहली बार इस गल्फ राष्ट्र से अमेरिकी राष्ट्रपति के समर्थन में आवाज आई है।

शेख अब्दुल्लाह ने कहा कि उन्हें अमेरिकी प्रशासन के इस बयान पर उन्हें भरोसा है कि यह बैन धर्म के नाम पर नहीं किया गया है। उन्होंने साथ ही कहा कि इस बैन का अधिकतर मुस्लिम देशों पर असर नहीं पड़ा है। उन्होंने कहा, 'यह अस्थायी बैन है और 3 महीने बाद इसमें संशोधन होना है। इसलिए हमें इन बात का भी ख्याल रखने की जरूरत है।'

उन्होंने कहा कि बैन किए कुछ देशों के भीतर आंतरिक समस्याएं हैं। इन देशों को अपनी समस्याओं को खत्म करने के लिए प्रयास करने चाहिए। बता दें कि यूएई अमेरिका का करीबी सहयोगी है।