बर्बाद हुआ 'DON'- मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी, #Dubai में जब्त की दाऊद इब्राहिम की प्रोपर्टी

नई दिल्ली (4 जनवरी): भारत के सबसे बड़े दुश्मन दाऊद इब्राहिम को लगा है अब तक का सबसे बड़ा झटका। ऐसा झटका जिसने दाऊद के काले कारोबार की कमर तोड़ कर रख दी है। खबरों के मुताबिक यूएई ने भारत सरकार के सौंपे हुए डोजियर के आधार पर कार्रवाई करते हुए दाऊद इब्राहिम की 15 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति जब्‍त कर ली है। बता दें कि भारत ने डेढ़ साल पहले दाऊद को लेकर एक डोजियर यूएई सरकार को सौंपा था। जिस पर यूएई प्रशासन ने कार्यवाही की है। खबरों के मुताबिक दाऊद ने ज्यादातर इंवेस्टमेंट दुबई और आबू धाबी में कर रखा है। यहां उसके बड़े-बड़े फाइव स्टार होटल, मॉल्स और ऑफिस हैं। आइए हम आपको बताते हैं दाऊद के काले कारोबार का पूरा काला चिट्ठा-

कौन-कौन सी प्रोपर्टी की गई जब्त...

    * दुबई में दाऊद ने ‘गोल्डन बॉक्स’ नाम की एक कंपनी बनाई थी।

    * इस कंपनी के जरिये दाऊद ने होटल,रियल स्टेट के कारोबार में कदम रखा।

    * सूत्रो के मुताबिक यूएई सरकार ने जांच में कंपनी में फर्जी निवेशकों को पाया।

    * इन फर्जी निवेशकों के जरिए गोल्डन बॉक्स में पैसा डाला गया।

    * इसके लिए हवाला के जरिये आये पैसों का इस्तेमाल किया गया।

    * इसी कम्पनी के जरिये दुबई में करीब तीन फाइव स्टार होटल खड़े किए।

    * अरबो रूपये कीमत की तीन मल्टी स्टोरी रेसिडेंसिअल बिल्डिंग भी बनाई।

    * इसके अलावा दुबई और आबू धाबी में रियल स्टेट डवलेपमेंट में कदम रखा।

    * जहां 3000 करोड़ रूपये कीमत की जमीने भी खरीदी गई थी।

पीएम मोदी की यूएई यात्रा के दौरान सौंपा गया था डोजियर- 2015 में पीएम मोदी यूएई दौरे पर गए थे और उसी दौरान भारत ने दाऊद के खिलाफ डोजियर सौंपा था जिसमें कहा गया था कि अंडरवर्ल्‍ड डॉन मनी लॉन्ड्रिंग के अलावा जाली नोट बनाने, ड्रग्‍स स्‍मगलिंग और हवाला जैसे कामों में लगा है। 2015 में यूएई के अलावा भारत ने संयुक्त राष्ट्र, अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देशों से दाऊद से जुड़े दस्तावेज साझा किए थे जिसमें दाऊद के काले कारोबार की जिर्क था।

एनएसए अजीत डोभाल की मुहिम रंग लाई- जिस शख्स ने दाऊद इब्राहिम की हवा खराब कर रखी है वो हैं भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल। डोभाल ही दाऊद को दबोचने की रणनीति बना रहे हैं। यूएई सरकार को दाऊद इब्राहिम से जुड़ा डोजियार भी अजीत डोभाल ने ही सौंपा था। गौरतलब है कि 2015 में पीएम नरेंद्र मोदी जब यूएई दौरे पर गए थे तो उनके साथ एनएसए अजीत डोभाल भी थे। दोनों देशों ने एनएसए स्तर पर जानकारियां साझा की थीं।

खुफिया एजेंसियां रख रही हैं दाऊद के कारोबार पर नजर- खबरों के मुताबिक दाऊद इब्राहिम पर शिकंजा कसने के लिए भारत की खुफिया एजेंसियों की एक विशेष टीम काम कर रही है। इस टीम में 50 से अधिक अफसर शामिल हैं जिनका नेतृत्व खुद डोभाल कर रहे हैं। इस टीम में खुफिया विभाग के साथ सीबीआई, रॉ, ईडी, आयकर विभाग और इंटरपोल विंग के अधिकारी शामिल हैं। ये टीम दाऊद की हर हरकत पर नजर रखती है। दाऊद कहां जाता है क्या कर रहा है, किससे डील कर रहा है इस टीम को उसकी पूरी जानकारी होती है।

ब्रिटेन में डी कंपनी के आर्थिक लेन-देन पर लग चुकी है रोक-

    * पीएम मोदी ने अपनी पहली ब्रिटेन यात्रा के दौरान दाऊद के खिलाफ सौंपे थे सबूत।

    * जिसके आधार पर ब्रिटेन ने डी कंपनी के आर्थिक लेन-देन पर लगा दी थी।

    * ब्रिटेन में दाऊद की डी कंपनी की 15 संपत्तियों का पता चला था।

    * लंदन के सेंट जान वूड रोड पर एक बहुत बड़ा गैराज बनाया गया है

    * जहां से दाऊद और उसकी कंपनी अपना कारोबार चलाती है।

    * इसके अलावा लंदन में हार्नचर्च के हरबर्ट रोड पर होटल का पता चला।

    * इलफोर्ड के रिचमंड रोड पर, डार्टफोर्ड में स्पाइटल स्ट्रीट पर भी होटल हैं।

    * दाऊद की प्रोपर्टी रोहेम्पटन हाईस्ट्रीट में, हैनाल्ट के वुडहाउस रोड और रिचमंड रोड पर भी है।

8 अलग-अलग देशों में अरबों की प्रॉपर्टी है दाऊद की

    * खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारी के मुताबिक दाऊद की 8 अलग-अलग देशो में अरबो की संपत्ति है

    * यूएई और लंदन के अलावा मोरक्को, ऑस्ट्रेलिया, टर्की, दुबई, न्यूजीलैंड, साइप्रस और स्पेन में हैं।

    * सूत्रों के मुताबिक सिर्फ लंदन में पिछले दस सालों में दाऊद ने डेढ़ दर्जन से ज्यादा प्रॉपर्टी खरीदी है।

    * 2012 में दाऊद इब्राहिम ने लंदन के हर्बर्ट रोड में 35 करोड़ का सबसे ताजा सौदा किया था।

    * टर्की में दाऊद की दो दर्जन से ज्यादा संपत्ति है, जिनकी कीमत अरबों में है।

    * ये तमाम प्रोपर्टी सेशेल्स में रजिस्टर्ड एक कंपनी के जरिए खरीदी गई हैं।

    * दाऊद की संपत्ति का जाल ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड तक फैला हुआ है।

    * ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में करोड़ों में खरीदी गई दो संपत्तियों का पता चला है।

    * न्यूजीलैंड के आकलैंड में दाऊद का एक आलीशान मकान है जो करोड़ों की संपत्ति है।

    * दुबई तो दाऊद का गढ़ है, 2010 में मनखूल इलाके में एक अरब 60 करोड़ का प्लॉट खरीदा था।

कराची में हनीफ मर्चेन्ट के नाम से रहता है दाऊद

    * दाऊद पाकिस्तान के कराची में शेख हनीफ मर्चेन्ट के नाम से रहता है।

    * डर की वजह से दाऊद कराची से बाहर कहीं कोई मूवमेंट नहीं करता है।

    * कराची में भी दाऊद और उसका पूरा परिवार बुलेट प्रूफ गाड़ी में चलते हैं।

    * दाऊद के सभी फोन कॉल्स उसकी पत्नी मेहजबीन शेख अटेंड करती है।

    * यही नहीं दाऊद का संदेश कराची के बाहर भी किसी को देना होता है

    * तो वो दाऊद की पत्नी मेहजबीन शेख ही वो संदेश दूसरों को देती है।

    * जानकारी के मुताबिक दाऊद कराची के DC13, Block-4, KDA, SCH-5 में रहता है।

सरकारें क्यों नाकाम रहीं दाऊद को भारत लाने में

    * 1993 मुंबई ब्लास्ट के बाद से ही भारत सरकार दाऊद को भारत लाने का प्रयास कर रही है।

    * लेकिन भारत की कोई भी सरकार दाऊद इब्राहिम को भारत लाने में कामयाब नहीं हो पाई है।

    * दाऊद को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह का भी रटा-रटाया जवाब आता रहा है।

    * दाऊद को पकड़े जाने के प्रयास जारी हैं, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए ये बातें कहीं।

    * दाऊद पर गृहमंत्री का यह बयान बीते सालों में दूसरी सरकारों के बयान से कतई अलग नहीं है।

    * राजनाथ सिंह ने 11 मई 2015 को लोकसभा में बयान दिया था।

    * जिसमें कहा था कि भारत सरकार दाऊद को हर कीमत पर वापस लाएगी।

    * दाऊद इब्राहिम मामले की जांच कर चुके कई अधिकारी सरकारों की नीयत पर सवाल खड़े कर चुके हैं।

    * दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार बीजेपी सांसद और पूर्व गृह सचिव आर के सिंह कई खुलासे कर चुके हैं।

    * मीडिया में दाऊद को पकड़ने से जुड़ी कई कहानियां आती रही हैं.

    * 2014 की जनवरी में तत्कालीन गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने स्वीकार किया था कि दाऊद पाकिस्तान में है।

    * उसे गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है, भारत सरकार अमेरिका की मदद से दाऊद को भारत लाएगी।

    * लेकिन सरकार की कोशिशें सिर्फ और सिर्फ कोशिशें ही बन कर रह गई है।

    * अब अजीत डोभाल द्वारा की जा रही कार्रवाही से एक बार फिर भरोसा बना है कि दाऊद को भारत लाया जा सकेगा।