संयुक्त अरब अमीरात के 40 सैनिकों का दस्ता गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा

नई दिल्ली (6 जनवरी): गणतंत्र दिवस की परेड में इस साल यूपीआई और भीम ऐप के जरिए कैशलेस ट्रांजेक्शन की लाइव प्रजेंटेशन दिखाई जाएगी। इसके साथ ही परेड में संयुक्त अरब अमीरात के 40 सैनिक भी हिस्सा लेंगे। इस बार नेशनल सिक्यूरिटी गार्ड (एनएसजी) के सैनिक पहली बार परेड में हिस्सा लेंगे, वहीं आर्मी की स्पेशल फोर्स का दस्ता नहीं दिखेगा। सूत्रों के मुताबिक सूचना एवं तकनीक मंत्रालय कैश ट्रांजेक्शन की बजाय डिजिटल ट्रांजेक्शन दिखाएगा। यह फैसला नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले को देखते हुए लिया गया है।पिछले साल के विपरित इस बार कुत्तों के दस्ते को भी शामिल नहीं किया है। एनएसजी का दस्ता आतंकी विरोधी, अपहरण विरोधी और अन्य स्पेशल ऑपरेशन की क्षमताओं के बारे में बताएगा। इस बार गणतंत्र दिवस पर अबु धाबी के युवराज शेख मोहम्मद बिन जायद अल निहान बतौर चीफ गेस्ट शामिल होंगे। इसलिए यूएई सेना की एक प्लाटुन परेड में हिस्सा लेगी। पिछली बार फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा औलांद बतौर चीफ गेस्ट आए थे। ऐसे में फ्रांस की सेना की भी एक प्लाटुन ने पिछली बार परेड में हिस्सा लिया था।अबु धाबी के राजकुमार शेख मोहम्मद बिन जायद अल निहान की बतौर चीफ गेस्ट आने की पुष्टि पिछले साल अक्टूबर महीने में ही कर दी गई थी।