अमेरिका का शक्ति प्रदर्शन, उत्तर कोरिया के ऊपर से उड़ाया बॉमर, लड़ाकू विमान

नई दिल्ली ( 24 सितंबर ): अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव जारी है और दोनों ही देश एक दूसरे को धमकी दे रहे हैं। इस बीच अमेरिकी वायु सेना के B-1B लैंसर बॉमर और फाइटर शनिवार को उत्तर कोरिया के ईस्टर्न कोस्ट के ऊपर अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र से गुजरे। ऐसा पेंटागन की ताकत को दिखाने के लिए किया गया। यह हवाई गश्ती शनिवार को उत्तर कोरिया के परमाणु साइट पर भूकंप के हल्के झटके महसूस किए जाने के बाद की गई है। ऐसी आशंका है कि प्योंगयांग ने कुछ सप्ताह के भीतर ही दूसरी बारी परमाणु परीक्षण किया है। 

हवाई गश्ती के संबंध में पेंटागन का कहना है कि यह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के पास मौजूद कई सैन्य विकल्प को दिखाने का अभियान था जिसे उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम से उपजे गंभीर खतरे से निपटना है। पेंटागन के प्रवक्ता ने बताया, 'यह असैन्य जोन के एकदम उत्तरी छोर पर गया और 21वीं सदी में ऐसा करने वाला यह अमेरिका का पहला बॉमर या फाइटर है। हमने दिखाने की कोशिश की है कि हम उत्तर कोरिया के लापरवाह रवैये को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं।'

बता दें कि इससे ठीक पहले गुरुवार को उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो ने चेतावनी दी थी कि प्योंगयांग हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर सकता है जिसका प्रशांत क्षेत्र में व्यापक असर होगा। भूकंप के झटके ऐसे समय में महसूस किए गए थे जब हो को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करना था। जब उनसे पत्रकारों ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के संबंध में सवाल पूछा तो उन्होंने कुछ भी जवाब नहीं दिया। 

उत्तर कोरिया में शनिवार को 3.4 तीव्रता का भूकंप आया। आशंका जताई जा रही है कि उत्तर कोरिया लगातार परमाणु और मिसाइलों का परीक्षण किया है।