शाबाश : मां ने 2 साल पहले हाईस्कूल में ज़िला टॉप किया तो बेटे ने इस साल

नई दिल्ली (17 मई) :  कहानी पूरी फिल्मी है। हाल में रिलीज़ हुई फिल्म 'निल बटा सन्नाटा' में दिखाया गया था कि बेटी के साथ ही मां स्वरा भास्कर भी स्कूल में एडमिशन लेती है। यूपी के मथुरा में भी ऐसा ही कुछ हुआ है। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षा में दो साल पहले मथुरा की ज्योति गुप्ता ने ज़िले में टॉप किया था। अब यही गौरव उनके बेटे ने इस साल की हाईस्कूल परीक्षा में पाया है। आप ये पढ़ कर चौंक रहे होंगे। आख़िर ये कैसे संभव है?  लीजिए आपको अधिक नहीं उलझाते। बता ही देते हैं कि माज़रा क्या है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में 34 साल की उम्र में मथुरा में हाईस्कूल की परीक्षा में टॉप करने वाली ज्योति ने बचपन में आर्थिक समस्याओं के चलते पढ़ाई छोड़ दी थी लेकिन उनकी पढ़ाई की इच्छा खत्म नहीं हुई थी। उन्हें आठवीं के बाद पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी। 33 साल की उम्र में 2013 में उन्होंने फिर से पढ़ाई शुरू करते हुए 9वीं कक्षा में नियमित छात्रा के तौर पर एडमिशन लिया था। 2014 में ज्योति हाईस्कूल परीक्षा में बैठीं। ज्योति के मुताबिक उन्हें उम्मीद थी कि उनके परीक्षा में अच्छे अंक आएंगे लेकिन जब उन्हें 94.6 प्रतिशत अंकों के साथ ज़िले में टॉपर होने का पता चला था तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा था। इस साल ज्योति के 14 वर्षीय बेटे साहिल ने दसवीं की परीक्षा में 94 फीसदी अंक प्राप्त कर ज़िले में टॉप किया।

साहिल की उपलब्धि की खुशी गुप्ता परिवार में इस साल दुगनी हो गई क्योंकि साहिल की मां ज्योति ने इस 12वीं की परीक्षा 90 प्रतिशत अंकों के साथ पास की है।

ज्योति ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करके टीचर बनना चाहती हैं। साथ ही वह साहिल को इंजीनियर बनाना चाहती हैं। ज्योति की सफलता में सबसे महत्वपूर्ण योगदान उनके पति अजय का है। अजय एक स्कूल में टीचर हैं। ज्योति ने बताया कि जब मैं अपनी पढ़ाई कर रही होती थी तो उनके पति घर की सारी ज़िम्मेदारी संभालते थे।

स्नातक पूरी करने के बाद ज्योति टीचर बनना चाहती है और साहिल को वो इंजीनियर बनाना चाहती है। ज्योति ने बताया कि बीते तीन  सालों  से वे और बेटा साहिल दोनों एक साथ स्कूल जाते थे। लेकिन साहिल ने इससे कभी असहजता महसूस नहीं की। बल्कि उसे गर्व होता है कि उसका मां ने पढ़ाई पूरी करने के लिए दोबारा स्कूल ज्वाइन किया।