जम्मू-कश्मीर: उरी जैसे हमले की साजिश नाकाम, सेना ने सभी आतंकी किए ढेर

नई दिल्ली ( 24 सितंबर ): जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को नाकाम करने में जुटे सुरक्षाबलों को महत्वपूर्ण सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने कश्मीर के उjr में तीन आतंकियों को मार गिराया है। आतंकियों से एनकाउंटर के दौरान एक जवान भी घायल हुआ है। इसके अलावा तीन नागरिक भी मुठभेड़ की चपेट में आकर घायल हैं। 

इस बार फिर आतंकियों ने पिछले साल हुए उरी हमले को दोहराने की कोशिश की थी। हालांकि सुरक्षाबलों ने इस बार आतंकियों की साजिश को कामयाब नहीं होने दिया। एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि सेना और पुलिस को सूचना मिली थी कि उड़ी के कलगई इलाके में आतंकी छिपे हुए हैं। 

इसके बाद सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। इसी बीच आतंकियों ने सुरक्षाबलों के ऊपर फायरिंग झोक दी। अधिकारी ने बताया कि जवाबी कार्रवाई में तीनों आतंकियों को मार गिराया गया। 

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद्य ने बताया कि आतंकी पिछले साल उड़ी के मिलिटरी कैंप पर हुए हमले की तरह आत्मघाती हमले की तैयारी में थे। पिछले साल उड़ी में हुए आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। 

वैद्य ने बताया कि एक बार फिर एक बड़ी साजिश नाकाम हुई। उन्होंने कहा कि इस बार भी आतंकी उरी हमले जैसी ही तैयारी करके आए थे। आतंकियों के मंसूबे पूरे होते उससे पहले ही सुरक्षाबलों को उनकी सूचना मिल गई। डीजीपी ने बताया कि जॉइंट ऑपरेशन में सभी आतंकियों को मार गिराया गया। 

गौरतलब है कि पिछले साल 18 सितंबर को उड़ी स्थित मिलिटरी कैंप पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 19 जवान शहीद हुए थे। भारतीय सेना ने इस हमले का बदला लेने के लिए एलओसी पार सर्जिकल स्ट्राइक की थी। भारतीय सेना की इस जवाबी कार्रवाई में पीओके स्थित कई आतंकी कैंप तबाह हुए थे और आतंकियों की मदद कर रही पाकिस्तानी सेना को भी नुकसान हुआ था।