यशवंत सिन्हा का बड़ा बयान,बोले- 'दो नेता मिलकर चला रहे देश और पार्टी'

नई दिल्ली (20 मई): रविवार को पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा और भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बिना किसी का नाम लिए आरोप लगाया कि इस समय पार्टी (भाजपा) और देश की सरकार को केवल दो नेता कठपुतली की तरह चला रहे हैं। इन दोनों के आगे पार्टी के सभी नेता नेता नतमस्तक हैं।सब स्तुति में जुटे हैं जबकि मैं जो कुछ गलत हो रहा है, उसके खिलाफ खुलकर बोल रहा हूं। 

वर्तमान बीजेपी नेतृत्व और पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार के धुर आलोचक रहे यशवंत सिन्हा ने इस वर्ष के शुरू में राजनीतिक समूह राष्ट्र मंच शुरू किया था. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय मंच देश की बेहतरी के लिए एक आंदोलन है।

शत्रुघ्न सिन्हा ने आरोप लगाया कि पार्टी में आंतरिक प्रजातंत्र पूरी तरह समाप्त हो गया है जो कभी अटलबिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी के समय में हुआ करता था। उन्होंने यहां तक कह डाला कि पार्टी ‘वन मैन शो’ और ‘टू मैन आर्मी’ बन चुकी है। उन्होंने कहा कि वह खुद भाजपा नहीं छोड़ेंगे। पार्टी चाहे तो उन्हें बेशक निकाल सकती है। 

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जो-जो वायदे किए थे, वे सभी जुमले साबित हो रहे हैं इस बात को लेकर लोगों में निराशा है। ऐसे में 2019 का आम चुनाव भाजपा के लिए आसान नहीं होगा। आरोप लगाया कि कर्नाटक में भाजपा ने बहुमत साबित करने के लिए संविधान तक की परवाह नहीं की और दूसरे दलों के विधायकों के जोड़-तोड़ में जुटी थी।