वो नंगा भाग रहा था, पीछे दो लोग HIV संक्रमित खून की सीरींज लेकर दौड़ रहे थे

मुंबई (13 फरवरी) :  कुर्ला में वो अजब नज़ारा था। गुरुवार को बाज़ार के बीच एक शख्स बिना कपड़ों के दौड़ रहा था। उसके पीछे दो और लोग भाग रहे थे जिनमें से एक के हाथ में सीरींज थी। कुछ लोगों को ये देखकर बेशक हंसी आई लेकिन इस मामले की हक़ीक़त हैरान कर देने वाली थी।

दरअसल ये पुराने झगड़े का मामला था। और नंगे दौड़ रहे शख्स के पीछे दौड़ने वाले लोग उसे एचआईवी से संक्रमित खून सीरींज से चढ़ाना चाहते थे।  

मिडडे की रिपोर्ट के मुताबिक कुर्ला (ईस्ट) के नेहरू नगर मार्केट में सुबह आठ बजे दुकाने खुलने की तैयारी हो रही थी। तभी वहां इन लोगों को दौड़ते देखा गया। मार्केट से किसी ने पुलिस को इस घटना की सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर बिना कपड़ों वाले शख्स को एक हाउसिंग सोसायटी के परिसर में छुपे हुए पाया। पुलिस ने पीछे दौड़ने वाले दोनों लोगों को भी ढूंढ निकाला। शांति भंग करने और उत्पात मचाने के आरोप में तीनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

पुलिस की पूछताछ से पता चला कि जो शख्स नंगा दौड़ रहा था वो पंचनारायण साहू नाम का ट्रांसपोर्टर था। वो दो लोगों से बच कर भाग रहा था जिन्होंने पहले उसे बुरी तरह पीटा और फिर उसके सारे कपड़े उतार कर एचआईवी से संक्रमित खून चढ़ाना चाह रहे थे। पीछे दौड़ने वाले दोनो लोगों की पहचान पंकज दूबे और राजकुमार देवेंद्र प्रताप के तौर पर हुई। पंकज दूबे कई पेट्रोल पम्पों का मालिक हैं वहीं राजकुमार उसका कर्मचारी है।

(फोटो- पंचनारायण साहू, साभार- मिडडे)

नेहरू नगर पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर प्रमोद खोपारडे के मुताबिक पंचनारायण साहू बचपन से ही दूबे के यहां नौकरी करता था। दो साल पहले ही साहू वहां से अलग हुआ। दुबे का ट्रांसपोर्ट कारोबार भी था, जिसे उसने नुकसान की वजह से बंद कर दिया था। उधर साहू ने अलग होने के बाद अपनी ट्रांसपोर्ट कंपनी शुरू कर दी। साहू के ट्रक दूबे के पेट्रोल पंपों से ही उधार पर पेट्रोल भरवाते थे। ये उधार बढ़ते बढ़ते 6.65 लाख रुपए हो गया। उधार चुकता नहीं होने पर दूबे ने कालाम्बोली में साहू के दो ट्रकों पर कब्जा कर लिया।

बुधवार को दूबे के घर साहू उधार चुकता करने के लिए पैसे देने पहुंचा। लेकिन पैसे मिलने के बावजूद दूबे की नाराज़गी दूर नहीं हुई। दूबे अपना ट्रांसपोर्ट कारोबार फ्लॉप होने के सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था। साहू के मुताबिक दूबे ने उससे कहा- तुने मुझे कारोबार में नंगा किया, अब मैं तुझे नंगा करूंगा। दूबे और उसके नौकर राजकुमार ने साहू के कपड़े उतार कर पिटाई की और एक कमरे में बंद कर दिया। इसकी उन्होने वीडियो फिल्म भी बनाई। साथ ही धमकी दी कि उसे एचआईवी संक्रमित खून चढ़ा कर ऐसा सबक दिया जाएगा जिसे वो ज़िंदगी भर नहीं भूलेगा।

रात भर साहू के कमरे में बंद रहने के बाद सुबह राजकुमार ने जैसे ही दरवाज़ा खोला, साहू उसे धक्का देकर भागने लगा। बस उसी के पीछे सीरींज लेकर दूबे और राजकुमार ने दौड़ना शुरू कर दिया।

दूबे और राजकुमार के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 386, 392,342,504,34 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। दोनों को कोर्ट ने शुक्रवार को पुलिस हिरासत में देने का आदेश दिया।