टि्वटर पर अश्विन और भज्जी का युद्ध

नई दिल्ली(18 अक्टूबर):स्टार स्पिनर हरभजन सिंह द्वारा रविचंद्रन अश्विन को निशाना बना कर किया गया 'ट्वीट वार' अभी खत्म नहीं हुआ है। हरभजन ने स्पिन गेंदबाजी के लिए मददगार पिचों पर ट्वीट किया था कि अगर ऐसी पिचें उन्हें मिली होतीं, तो वह और कुंबले विकेट लेने में और भी आगे होते। 

- भज्जी की ट्विटर पर फेंकी गई इस दूसरा पर खुद अश्विन ने स्ट्रेटर फेंक कर इस विवाद को खत्म करने की अपील की है।

- अश्विन ने ट्वीट कर लिखा, 'भज्जी मेरे लिए प्रेरणा हैं और मैंने 2001 सीरीज के बाद ही ऑफ स्पिन गेंदबाजी शुरू की थी। लेकिन सोशल मीडिया पर ये जो भी चल रहा है यह ठीक नहीं है।'  - उल्लेखनीय है कि 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में हरभजन सिंह सबसे कामयाब स्पिनर के रूप में उभरे थे। 3 टेस्ट मैचों की इस सीरीज में हरभजन ने 32 विकेट अपने नाम किए थे। इसमें एक हैट-ट्रिक भी शामिल थी। अश्विन ने भज्जी के इसी प्रदर्शन को अपनी प्रेरणा बताया है।

- इस ट्वीट के बाद भज्जी ने भी अश्विन को तुरंत ट्वीट कर अपना पक्ष साफ किया। भज्जी ने लिखा, 'मेरे मन में तुम्हारे खिलाफ कुछ भी नहीं है। किन्हीं कारणों से मेरे शब्दों को गलत तरीके से पेश किया गया है। मैं तुम्हारी कामयाबी के अलावा कोई और दुआ नहीं मांगता। तुम ऐसे ही शानदार खेलते रहो। ईश्वर का आशीर्वाद '

-इससे पहले भज्जी ने न्यू जीलैंड के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट स्पिन गेंदबाजों द्वारा लेने पर ट्विटर पर अपनी फिरकी फेंकी थी। भज्जी ने ट्वीट किया कि अगर उनके दौर में पिचें इस कदर स्पिन गेंदबाजी को मदद करतीं, तो वह और अनिल कुंबले विकेट लेने में बहुत आगे होते। इसके बाद सोशल मीडिया पर टीम इंडिया और अश्विन के फैन्स ने भज्जी को खूब घेरा।