UAE में बसे हैं 20 प्रतिशत भारतीय

नई दिल्ली(9 जनवरी): आर्थिक सहयोग और विकास संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त अरब अमीरात साल 2015 में भारतीयों के पलायन का दूसरा सबसे बड़ा देश बनकर उभरा है।

-1995 से 2015 के बीच यहां पर भारत से प्रवासियों का प्रवाह करीब 28 लाख रहा।

- विश्व स्तर पर देखा जाए तो 2015 में 24.3 करोड़ लोग अपना देश छोड़ कर दूसरे देश में बस चुके हैं।रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले भारतीय प्रवासियों की संख्या 2005 से 2010 के बीच 126% की वृद्धि हुई है।प्रवासियों के कदम तेजी से उच्च आय वाले देशों की ओर बढ़ रहे हैं। वहीं भारतीय भी बेहतर रोजगार की तलाश में अपने देश से पलायन कर दूसरे देशों में बसते जा रहे हैं।