आज का दिन इसलिए बन गया है खास...

नई दिल्ली (21 जून): आज 21 जून का दिन बेहद खास है। आज के दिन सबसे बड़ा और रात छोटी होगी। यानी आज वर्ष का सबसे लंबा दिन होगा, जबकि रात सबसे छोटी होगी। इसे ग्रीष्मकालीन अयनंत का दिन कहते हैं। यानि सूर्य उत्तरायण से दक्षिणायन हो जाएगा। इसके बाद रातें लंबी व दिन छोटे होने शुरू हो जाएंगे।

असल में आज के दिन के महत्व को ध्यान में रखते हुए यूएन ने इस दिन को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में मनाने का ऐलान किया। आज के दिन दुनिया के करीब 160 देशों में एक साथ योग किया जा रहा है। इसे दूसरे शब्दों में डे-ऑफ यूनिटी के नाम से जाना जा रहा है। चंडीगढ़ में आयोजित योग के कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसके महत्व के बारे में वर्णन किया।

पृथ्वी की यह सामान्य प्रक्रिया है। पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाने के साथ अपने अक्ष पर भी घुमती है। वह अपने अक्ष में 23.5 डिग्री झुकी हुई है। जिस कारण सूर्य का प्रकाश धरती पर सदा एक समान नहीं पड़ता और दिन रात की अवधि में अंतर आता है। 21 जून के दिन दोपहर में सूर्य बहुत उंचाई पर होता है। जिस कारण हमारी छायाएं भी वर्ष की सबसे छोटी होती हैं। 

इन दिनों का सूर्य का प्रकाश उत्तरी गोलार्ध में अधिक व दक्षिणी गोलार्ध में कम पड़ता है। जिस कारण गर्मी होती है, जबकि दक्षिणी गोलार्ध में सर्दी। इसके बाद 21 सितंबर के आसपास दिन व रात की अवधि बराबर हो जाती है। साथ ही दिन की अवधि रात के मुकागले छोटे होने लगती है। यह प्रक्रिया 21 दिसंबर तक जारी रहती है। इस दिन रात वर्ष की सबसे लंबी होती, जबकि दिन सबसे छोटा होता है।