स्मार्टफोन को 30 मिनट बंद करने से होते हैं ये फायदे, आप भी जानिए

नई दिल्ली ( 1 जनवरी ): आज के दौर में ज्‍यादातर लोगों के पास स्‍मार्टफोन होता है। फोन अब ऐसी जरूरत बन चुका है कि कोई भी उसे कुछ देर के लिए भी बंद नहीं करना चाहता। हम आज आपको बताने जा रहे हैं कि अगर आप अपनी इस आदत को कंट्रोल करके दिन में महज तीस मिनट के लिए ही बंद कर दें तो आपको वाकई बहुत फायदा हो सकता है।


ये कहना है मोबाइल के लिए सिक्योर फाइल शेयरिंग का काम करने वाली Accellion कंपनी के CEO योर्गन एडहोल्म का। तो चलिए आपको बतायें इस जरा सी देर के लिए अपना स्‍मार्टफोन ऑफ करके आप को मिल सकते हैं कौन से फायदे।


दिमाग करेगा सही काम

हमारा ब्रेन कभी मल्टीटास्क काम नहीं करता बल्कि वो कई कामों के बीच स्विच करता है। ऐसे में अगर आप कुछ देर के लिए अपना स्मार्टफोन बंद रखेंगे तो आपके ब्रेन को भी रिलेक्स मिलेगा और वो ज्‍यादा बेहतर तरीके से काम कर सकेगा।


कई बार आप किसी मीटिंग में बैठे होते हैं और ऐसे विषय पर चर्चा होने लगती है जो आपसे संबंधित नहीं है या आप उसके बारे में पहले से इतना जानते हैं कि उससे आगे जानने के इच्‍छुक नहीं हैं। ऐसे में अगर आपका फोन चालू है तो आप उस पर मैसेज या मेल चेक करने लगते हैं।


कई बार तो उनका जवाब भी देने लगते हैं। जाहिर है कि आपका ध्‍यान मीटिंग से हट जाता है और अचानक आपको पता लगता है कि ना सिर्फ विषय बदल गया है बल्‍कि आपने एक महत्‍वपूर्ण प्‍वाइंट मिस कर दिया है।


स्मार्टफोन्स को लगातार यूज करने पर वह ओवरहीट हो जाते हैं जिससे फोन्स के सॉफ्टवेयर पर असर पड़ सकता है। ऐसे में बहुत ज्यादा गर्म होने पर फोन को बंद करना अच्छा रहता है।

बढ़ती हैं कॉन्‍सन्‍ट्रेशन की ताकतएक रिसर्च के अनुसार 61 फीसदी लोग बिना नोटिफिकेशन देखे नहीं रह सकते, अगर आप भी उन्हीं में से हैं तो आपके लिए फोन को स्विच ऑफ करना बेहद अहम है। ऐसा करके आप किसी काम को करने के लिए अपनी कॉन्सन्ट्रेशन पावर बढ़ा सकते है।


फोन को बंद करने का असर इसकी बैटरी लाइफ पर भी पड़ता है। फोन को बंद करने से या हाइबर्नेट मोड पर डालने से सभी बैकग्राउंड एप साथ बंद हो जाती हैं। जिससे फोन की बैटरी पर दवाब कम होता है और उसकी उम्र बढ़ जाती है।


फोन को बंद करने के साथ उसको टाइम टू टाइम अपना फोन रिबूट कर लेना चाहिए, जिससे बैकग्राउंड एप बंद हो जाएंगी और सभी अपडेटेड फीचर्स अच्छे से काम करने लगेंगे।