तुर्की ने कतर का किया समर्थन, कहा- अरब देशों की मांगें गैर-कानूनी

नई दिल्ली (26 जून): तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोआन ने कहा कि सऊदी अरब समेत चार अरब देशों द्वारा रखी गई मांगें गैर-कानूनी और कतर की संप्रभुता के खिलाफ हैं। उन्होंने आगे कहा कि तुर्क सेना को कतर से वापस बुलाने की मांग अनुचित है। दरअसल, कतर ने अरब देशों की 13 मांगों को अव्यावहारिक बताते हुए खारिज कर दिया है। सऊदी अरब ने कतर को 10 दिन का समय दिया है। हालांकि कतर को अब अमेरिका का भी समर्थन हासिल है। ईरान का प्रत्यक्ष और रूस का अप्रत्यक्ष समर्थन मिला हुआ है। नये क्राउन प्रिंस की नियुक्ति के बाद माना जा रहा था कि सऊदी अपने रुख में बदलाव लायेगा।