15 रुपये के लिए सस्पेंड हुआ ट्रेन का टीटीई

नई दिल्ली (16 सितंबर): बाड़मेर से कालका जा रही ट्रेन के टीटीई ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि 15 रुपये के लिए उसे सस्पेंड होना पड़ेगा। लेकिन एक जागरूक यात्री की शिकायत ने उन्हें निलंबित करवा दिया। दरअसल, ट्रेन के आरक्षित कोच में बिना आरक्षण के सफर कर रहे एक यात्री से 15 रुपये लिए, लेकिन इसकी रसीद नहीं दी।

यात्री ने ट्वीट के जरिये टीटीई की शिकायत कर दी। इसके बाद ट्रेन के मेड़ता पहुंचते ही डीआरएम ने टीटीई को निलंबित कर दिया। जोधपुर डीआरएम राहुल गोयल ने बताया कि गत शनिवार बाड़मेर से कालका जा रही ट्रेन के एक आरक्षित कोच में टीटीई बिना वैध टिकट पाए जाने वाले यात्रियों से 15-15 रुपये ले रहा था, लेकिन उसकी रसीद नहीं दी। एक यात्री ने रसीद की मांग की, लेकिन टीटीई ने रसीद नहीं दी। यात्री ने इसकी शिकायत ट्वीट की।

शिकायत की जांच विजिलेंस को सौंपी गई। विजिलेंस दल ने ट्रेन के मेड़ता पंहुचते ही टीटीई श्याम लाल को ट्रेन से उतार कर जांच की। जांच रिपोर्ट में शिकायत सही पाई गई और टीटीई के पास करीब एक हजार रुपये अधिक मिले, जिसके बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। डीआरएम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए टीटीई को मेड़ता में ही निलंबन का आदेश थमा दिया।