ट्रंप से बातचीत के कसीदों पर पाकिस्तान का दुनिया भर में बना मजाक

नई दिल्ली (2 दिसंबर): पाकिस्तान के उस दावे की दुनियाभर में खिल्ली उड़ायी जा रही है, जिसमें उसने कहा था कि अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने नवाज़ शरीफ और पाकिस्तान की तारीफ की और पाकिस्तान की समस्या दूर करने की पेशकश भी की। पाकिस्तान के इस दावे की अमेरिकी मीडिया ने कहा है पहले तो ट्रंप से नवाज शरीफ की ऐसी बातचीत का पाकिस्तानी दावा ही संदिग्ध लगता है, दूसरा यह कि दो लीडर्स के बीच हुई बातचीत को बेहद संजीदा ढंग से पेश किया जाता है।

अमेरिकी मीडिया ने यह भी कहा कि ट्रंप का नाम लेकर पाकिस्तान जो दावे किये हैं वो डिप्लोमैटिक प्रोटोकॉल का वॉयलेशन है। अमेरिकी चैनल के पॉलिटिकल एनालिस्ट डेविड गैरन ने कहा कि जिस तरह के दावे ट्रंप का नाम लेकर किये जा रहे हैं वैसा कोई भी अमेरिकी प्रेसिडेंट कभी नहीं करता। इधर, भारत ने भी इस प्रकरण पर चुटकी लेते हुए कहा है कि हमने अभी केवल बातचीत का एक पहलू देखा है। पाकिस्तान की सबसे बड़ी समस्या टेररिज्म है और इसे ध्यान में रखते हुए हम पाक और अमेरिका के बीच बातचीत का स्वागत करते हैं ताकि ये प्रॉब्लम खत्म हो।