परिस्थितियां ठीक रहती हैं, तो नार्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से मिलना चाहूंगा: ट्रंप

नई दिल्ली ( 2 मई ): कोरियाई क्षेत्र में तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर 'परिस्थितियां ठीक रहती हैं' तो वह उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से मिलेंगे। अपने एक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा, 'अगर मेरा उनके साथ मिलना उचित हुआ, तो मैं जरूर किम जोंग उन से मिलूंगा।' ट्रंप ने कहा, 'ज्यादातर राजनीतिक लोग कभी नहीं कहेंगे कि वे किम से मिलने के लिए तैयार हैं। लेकिन मैं आपसे कहता हूं कि सही वक्त और सही परिस्थितियों में मैं उनसे मिलूंगा।'


राष्ट्रपति के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा कि ट्रंप और किम जोंग उन की मुलाकात के लिए जो शर्तें होनी चाहिए, वैसी स्थितियां फिलहाल नहीं हैं। स्पाइसर ने कहा कि उत्तर कोरिया को उकसाने वाले काम और भड़काऊ बयान देने जैसी हरकतों को तुरंत बंद करना होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के नेतृत्व को अपना परमाणु कार्यक्रम खत्म करना होगा, क्योंकि इससे अमेरिका और उस पूरे क्षेत्र के सामने खतरा पैदा हो गया है।


ट्रंप का यह बयान ऐसे समय में आया है जब उत्तर कोरिया को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी तनाव बना हुआ है। लोग इसकी तुलना शीतयुद्ध के समय पैदा हुए क्यूबन संकट से कर रहे हैं। नॉर्थ कोरिया द्वारा हाल के दिनों में परमाणु हथियारों का कई असफल परीक्षण किया गया है। अमेरिका द्वारा सख्त चेतावनी दिए जाने के बावजूद प्योंगयांग ने अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम से पीछे हटने से इनकार कर दिया है। हाल के कुछ हफ्तों में अमेरिका और उत्तरी कोरिया के बीच तनाव बहुत ज्यादा बढ़ गया है। अमेरिका और कुछ अन्य देशों की खुफिया एजेंसियों ने कहा है कि उत्तर कोरिया जल्द ही परमाणु हथियारों का परीक्षण कर सकता