ट्रम्प ने फिर दिया विवादित बयान, कहा मुसलमानों की रेसियल प्रोफाइलिंग की जाये

नई दिल्ली (20 जून): अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिका को ओरलेंडो जैसी गोलीबारी की घटनाओं को रोकने के लिए रेसियल प्रोफाइलिंग के बारे में सोचना चाहिए। इस सिलसिले इसराइल और अन्य देशों का उदाहरण देते हुए  ट्रंप ने दलील दी कि ऐसा करना अमेरिका के हित में है और इससे किसी को नुकसान भी नहीं है। ट्रंप ने सीबीएस के कार्यक्रम फेस द नेशन को बताया में  कहा कि कई देश यैसा कर रहे है। इसराइल को देखिए और अन्य देशों को देखिए, वे ऐसा कर रहे हैं और वे सफलतापूर्वक कर रहे हैं।

ओरलेंडो की एक नाइट क्लब में 49 लोगों के गोलीबारी में मारे जाने के एक हफ्ते बाद ट्रंप की यह टिप्पणी आई है। साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि यदि मुस्लिम समुदाय ऐसी संदिग्ध चीजों की जानकारी देता तो ओरलेंडो जैसी वीभत्स गोलीबारी को टाला जा सकता था। ट्रंप ने कहा कि ओरलेंडो के शूटर उमर मातीन ने हमले से पहले खतरे का संकेत दिया था। आप उसके अतीत को देखिए। मैंने उसके जैसा अतीत किसी का नहीं देखा। ट्रंप ने बताया कि वह राष्ट्रीय राइफल एसोसिएशन के साथ काम कर रहे हैं ताकि एक ऐसी नीति विकसित की जा सके कि संदिग्ध सूची में शामिल लोगों को बंदूक खरीदने की इजाजत नहीं मिले।