'मुस्लिम बैन' पर US कोर्ट के फैसले के खिलाफ ट्रंप ने की अपील

वाशिंगटन (5 फरवरी): डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने अमेरिका में ट्रैवल बैन को सस्पेंड करने वाले फेडरल कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील कर दी है। जस्टिस डिपार्टमेंट की ओर से यह अपील की गई है। यह कदम फेडरल जज के फैसले को पलटने के मकसद से उठाया है।

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा है कि कोर्ट के फैसले के खिलाफ की गई यह अपील प्रेसिडेंट के एक्जीक्यूटिव ऑर्डर का बचाव करेगी, जो कानूनी तौर पर सही है। प्रेसिडेंट के ऑर्डर का मकसद देश की हिफाजत करना है। उनके पास अमेरिकी सिटिजंस की हिफाजत करने का कॉन्स्टीट्यूशनल राइट और रिस्पॉन्सबिलिटी है।

आपको बता दें कि फेडरल कोर्ट ने शुक्रवार को ट्रैवल बैन वाले ऑर्डर को सस्पेंड किया था। इसके बाद ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने इस ऑर्डर को वापस ले लिया था। ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन के एक्जीक्यूटिव ऑर्डर में कहा गया है कि इराक, सीरिया, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान और यमन से कोई भी शख्स 90 दिनों तक अमेरिका नहीं आ सकेंगे।

ट्रम्प के ऑर्डर के बाद अमेरिका 1 लाख लोगों का वीजा रद्द कर चुका है। सरकार की तरफ से एक अटॉर्नी ने अलेक्जेंड्रिया फेडरल कोर्ट में ये बात कही। कोर्ट में दो यमीनी भाइयों ने केस दायर किया था। दोनों का आरोप था कि लीगल रेसिडेंट वीजा रद्द करने और जल्द से जल्द इथियोपिया रिटर्न होने के लिए दबाव बनाया गया था। अटॉर्नी एरेज रियुवेनी के मुताबिक, फिलहाल ये नहीं बताया जा सकता कि डलेस एयरपोर्ट से कितने लोगों को उनकी होम कंट्री भेजा गया। हालांकि, जिनके पास ग्रीन कार्ड है, उनको लेकर कोई रोक-टोक नहीं हुई।