हिलरी की 'ताजपोशी' से बौखलाए ट्रंप, ई-मेल हैक के लिए रूस को दे डाला बुलावा

नई दिल्ली (27 जुलाई): हिलरी क्लिंटन को अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से उनके और रिपब्ल्किन पार्टी के डॉनल्ड ट्रंप के बीच की राजनीति दूसरा ही रंग लेने लगी है। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने बुधवार को अपने भाषण के दौरान एक ऐसी बात कह दी, जिसपर विवाद खड़ा हो गया है।  - ट्रंप ने रूस से हिलरी क्लिंटन के ई-मेल को हैक करने के लिए कहा है।  - यह हिलरी क्लिंटन के ई-मेल विवाद पर एक तरह से ट्रंप का कॉमेंट था। - सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप ने कहा, "रूस, अगर आप सुन रहे तो मुझे उम्मीद है कि आपलोग 30000 मिसिंग ई-मेल्स को ढूंढने में कामयाब होंगे। मुझे लगता है कि अगर आपने ऐसा कर दिखाया तो हमारी प्रेस आपका सम्मान भी करेगी। - ट्रंप ने फ्लोरिडा में एक न्यूज कॉन्फ्रेंस के दौरान ये बातें कहीं।  - ट्रंप ने इस इवेंट के खत्म हो जाने के बाद ट्वीट कर इस बात को दोहराया भी।  - ट्रंप ने ट्वीट किया, 'अगर रूस या कोई दूसरा देश या किसी व्यक्ति के पास अवैध तरीके से डिलीट किए गए हिलरी के 33000 हजार ई-मेल्स हैं, तो उसे एफबीआई के साथ शेयर करना चाहिए।'