हवन में शामिल हुई तीन तलाक पीडि़त मुस्लिम महिलाएं

अंशुल राघव, अलीगढ़ (13 अप्रैल): तीन तलाक पर चर्चा गरम है। लगता है ये मुद्दा समाजिक मुद्दे से ज़्यादा अब सियासी होता जा रहा है। अलीगढ़ में तीन तलाक की शिकार रेहाना को इंसाफ दिनालने के लिए हिंदू महासभा ने हवन कराया। इस में कुछ मुस्लिम महिलाएं भी शामिल हुईं। हिंदू महासभा का दावा है कि इससे समाज में तीन तलाक की बुराई खत्म होगी।


खबर आई कि रेहाना इतनी तंग हो गई है कि वो बर्सों से जिस धर्म को मानता है उसे अब छोड़ देना चाहता है। हालांकि बाद में इस खबर का खंडन हो गया है। इसी बीच दूसर धर्म के लोगों ने रेहाना और तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं को इंसाफ दिलाने के लिए हवन करना शुरू कर दिया।


हिन्दू महासभा ने हवन करा कर संकल्प लिया की अब मुस्लिम महिलाओं के साथ शोषण नहीं होने दिया जाएगा अब तीन तलाक की पीड़ित महिलाओं को न्याय दिला कर ही वो दम लेंगे हवन का आयोजन हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय किया।


इस हवन से कुछ मुस्लिम महिलाऐं भी खुश नजर आ रही हैं। उनके अनुसार हिन्दू महासभा भी सही कदम उठा रही। उनका कहना है हलाला एक गलत प्रथा है, जिसे समाज से खत्म होना चाहिए। हिंदूमहासभा ने हवनकुंड में तीन तलाक की बुराई की आहूति तो दी, लेकिन कहीं ऐसा तो नहीं कि इसके पीछे समाजिक हितों के बजाए सियासी हित हो, जिसे बस एक रंग दिया जा रहा है।


वीडियो: