'तीन तलाक को अपराध की श्रेणी में रखा जाये'

मानस श्रीवास्तव, लखनऊ (20 नवंबर): राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल ने कहा है कि शरीयत में तीन तलाक को अपराध की श्रेणी में रख कर कार्रवाई करनी चाहिए। काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशदी ने कहा कि तलाक समस्या का समाधान होना चाहिए न कि एक समस्या। इससे पहले काउंसिल के सदस्यों ने उत्तर प्रदेश के राज्यरपाल से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने सपा सरकार पर मुसलमानों के लिए किये गये वायदे पूरे न करने के आरोप लगाये।