आगरा में इमाम की बेटी को नोटरी से भेजा तलाक


नई दिल्ली (22 फरवरी):
आगरा की एक मस्जिद के पूर्व इमाम की बेटी को पति ने तलाक दे दिया है। पति शिपिंग कंपनी में इंजीनियर है और सिंगापुर में तैनात है। उसने नोटरी से तलाक का नोटिस भेजा है।

पीड़िता का कहना है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर उसे तलाक दिया गया है। पूर्व इमाम ने बेटी की शादी मई, 2014 को सुन्नी उलेमा बोर्ड कर्नाटक के अध्यक्ष के बेटे से की थी। पीड़िता के मुताबिक शादी में काफी कुछ खर्च करने के बाद भी ससुराल वाले खुश नहीं थे। उन्होंने कार के लिए साढ़े सात लाख रुपये दिए थे, लेकिन पति और ससुराली लग्जरी कार खरीदने के लिए 15 लाख रुपये मांगने लगे।

पीडि़ता का कहना है कि पति के प्रमोशन के लिए भी दस लाख रुपयों की मांग शुरू कर दी। मांग पूरी न होने पर महिला का गर्भपात करा दिया गया और छोटी बेटी के साथ घर से निकाल दिया गया। पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाते हुए एसएसपी आफिस और महिला थाना पुलिस से पीड़िता ने इसकी शिकायत की है।

इस मामले में एसपी सिटी आगरा कुंवर अनुपम सिंह ने कहा कि इस संबंध में दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है, जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।