ट्रिपल तलाक के सिर्फ कानूनी पहलू पर फैसला देंगे: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली(14 फरवरी): सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कहा कि वो ट्रिपल तलाक और निकाल हलाला जैसे मुद्दों के कानूनी पहलू पर सुनवाई करेगा।

- कोर्ट ने कहा कि मुस्लिम लॉ के मुताबिक, डायवोर्स को सुपरवाइज नहीं किया जाएगा।

- कोर्ट ने इस मसले से जुड़े सभी पक्षों से कहा है कि वो 16 फरवरी तक तमाम इश्यूज को तय कर लें।

- मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने ये ऑर्डर जारी किया। बेंच में चीफ जस्टिस जेएस. खेहर, जस्टिस पीवी. रामन्ना और जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़ शामिल थे।

- कोर्ट ने साफ किया कि वो इस मामले के दूसरे पहलुओं पर विचार करने की बजाए सिर्फ लीगल इश्यू पर फैसला देगा।

- सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ के तहत होने वाले डायवोर्स का मसला संसदीय मामला है। इसलिए इस मामले को कोर्ट नहीं देखेगा। हालांकि, कोर्ट ने वकीलों को इस बात की इजाजत जरूर दी कि वो ट्रिपल तलाक से जुड़े कुछ मामलों का जिक्र अपनी जिरह और दस्तावेजों में कर सकते हैं।