पाकिस्तान की अदालत मेंं मुंबई हमलों की ट्रायल ठप

नई दिल्ली (11 जुलाई): नवाज़ सरकार के ढुलमुल रवैये की वज़ह के  26/11 को हुए मुंबई हमलों की ट्रायल पाकिस्तान की अदालत ने ठण्डे बस्ते में डाल दी है। पाकिस्तानी अदालत का कहना है कि मुंबई हमलों के 24 महत्वपूर्ण भारतीय गवाहों के बयानों के बिना आरोपियों के खिलाफ अभियोग सिद्ध नहीं किये जा सकते। पाकिस्तान सरकार ने इस बारे में अदालत में कहा है कि भारत सरकार से इन सभी गवाहों को भेजे जाने के बारे में आग्रह किया जा चुका है।

जबकि वास्तविकता है कि पाकिस्तान ने अभी तक भारत से इस बारे में कोई औपचारिक आग्रह किया ही नहीं है। पाकिस्तानी अखबार 'डॉन'ने जब इस बारे में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस ज़कारिया से सवाल किया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। जबकि इस्लामाबाद में भारत के राजदूत ने कहा कि पिछले साल पाकिस्तान सरकार मुंबई हमलों के गवाहों को बुलाने के लिए गंभीर है और औपचारिक पत्र भेजती है तो भारत सरकार तुरंत सक्रिय कार्रवाई करेगी।