Hanuman Jayanti 2022: इस बार हनुमान जयंती पर बन रहा है खास योग, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Hanuman Jayanti 2022: बजरंगबली के भक्त चैत्र नवरात्र और राम नवमी के बाद अब हनुमान जयंती की तैयारी में जुटे हैं। इस बार हनुमान जयंती 16 अप्रैल शनिवार के दिन मनाई जाएगी।

Hanuman Jayanti 2022: इस बार हनुमान जयंती पर बन रहा है खास योग, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
x

Hanuman Jayanti 2022: बजरंगबली के भक्त चैत्र नवरात्र और राम नवमी के बाद अब हनुमान जयंती की तैयारी में जुटे हैं। इस बार हनुमान जयंती 16 अप्रैल शनिवार के दिन मनाई जाएगी। प्रभु श्री राम के अन्नय भक्त हनुमान जी का जन्म चैत्र माह की पूर्णिमा को हुआ था। इस दिन देशभर में हनुमान जी का जन्मदिवस मनाया जाता है। इस बार की हनुमान जयंती काफी खास है। क्योंकि पूर्णिमा के साथ शनिवार का दिन पड़ रहा है। जिसके कारण इस दिन किए गए पूजा पाठ का फल कई गुना अधिक मिलेगा। 


खास बात यह है कि मंगलवार और शनिवार दोनों ही हनुमान जी की पूजा के उपयुक्त दिन हैं। इस दिन बंजरंगबली की पूजा से जहां सभी प्रकार के भय और कष्टों से मुक्ति मिलती है। इसलिए हनुमान जयंती के दिन व्रत पूजा और विभिन्न उपाय करने से बजरंग बली की कृपा जरूर मिलती है।


हनुमान जयंती पर बन रहा है खास योग

पंचांग के अनुसार इस वर्ष हनुमान जयंती पर रवि योग बन रहा है। शास्त्रों में यह योग किसी कार्य को सम्पन्न करने के लिए श्रेष्ठ माना जाता है। रवि-योग को सूर्य का विशेष प्रभाव प्राप्त होने के कारण प्रभावशाली योग माना जाता है। सूर्य की ऊर्जा होने से इस योग में किया गया कार्य में सफलता मिलती है। इस बार 16 अप्रैल को हस्त नक्षत्र सुबह 08 बजकर 40 मिनट तक है। इसके बाद चित्रा नक्षत्र आरंभ होगा।





और पढ़िए - Budhwar Ke Upay: बुधवार को करें ये आसान उपाय, नौकरी और बिजनेस में मिलेगी कामयाबी





हनुमान जयंती 2022 तिथि और शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार पूर्णिमा तिथि 16 अप्रैल, शनिवार को प्रातः 02.25 मिनट पर शुरू होगी। पूर्णिमा तिथि का समापन रात 12.24 मिनट पर होगा। हनुमान जयंती के दिन हस्त नक्षत्र सुबह 08 बजकर 40 मिनट तक है, उसके बाद से चित्रा नक्षत्र शुरु हो जाएगा। ये दोनों ही नक्षत्र मांगलिक एवं शुभ कार्यों के लिए अच्छे हैं। 16 अप्रैल को अभिजित मुहूर्त दिन में 11 बजकर 55 मिनट से शुरु होकर दोपहर 12 बजकर 47 मिनट तक रहेगा। यह इस दिन का शुभ समय है। इसमें कोई कार्य शुरु करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं।


बल, बुद्धि और शौर्य के प्रतिक है हनुमान जी

हनुमान जी को महावीर और संकट मोचक भी कहा जाता है। हनुमान जी को बल, बुद्धि और शौर्य का प्रतीक माना जाता है। मान्यता के मुताबिक बजरंगबली की अराधना करने से व्यक्ति के जीवन में संकटों का नाश होता है।  सकंट मोचन हनुमान न सिर्फ नकारात्मक ऊर्जा और बुरी शक्तियों से रक्षा करते हैं बल्कि धन-संपत्ति और भौतिक सुख भी प्रदान करते हैं।


ऐसे करेंं हनुमान जी का सुमिरन

हनुमान जी की कृपा पाने के लिए भगवान राम का सुमिरन करना चाहिए और नित्य हनुमान चालीसा  का पाठ करना चाहिए। हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए इस दिन भक्त उन्हें कई तरह के प्रसाद का भोग लगाते हैं और कई प्रकार की चीजें भी भेंट करते हैं। ऐसा करने से भक्तों की मनोकामना पूरी होती है।







और पढ़िए - आज का राशिफल यहाँ पढ़ें









Click Here- News 24 APP अभी download करें

Next Story